ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार नवादामहंगाई से स्कूली बच्चों के गुणवत्ता पूर्ण भोजन पर ग्रहण के आसार

महंगाई से स्कूली बच्चों के गुणवत्ता पूर्ण भोजन पर ग्रहण के आसार

विभाग जिले के प्रारंभिक स्कूलों में बच्चों को पीएम पोषण योजना के तहत गुणवत्तापूर्ण भोजन परोसने का निर्देश बराबर दे रहा है, पर बढ़ती महंगाई को लेकर कन्वर्जन राशि में बदलाव नहीं किया गया है। जिसके कारण...

महंगाई से स्कूली बच्चों के गुणवत्ता पूर्ण भोजन पर ग्रहण के आसार
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,नवादाMon, 01 Aug 2022 12:10 PM
ऐप पर पढ़ें

नवादा। निज प्रतिनिधि

विभाग जिले के प्रारंभिक स्कूलों में बच्चों को पीएम पोषण योजना के तहत गुणवत्तापूर्ण भोजन परोसने का निर्देश बराबर दे रहा है, पर बढ़ती महंगाई को लेकर कन्वर्जन राशि में बदलाव नहीं किया गया है। जिसके कारण स्कूलों के प्रधानाध्यापकों की परेशानी बढ़ गई है। बच्चों को पौष्टिक व गुणवत्ता पूर्ण भोजन देने के लिए मीन्यू में हमेशा बदलाव किया जाता रहा है। लेकिन भोजन पर आने वाले खर्च की दरों में सुधार नहीं किया गया। जिसकी वजह से मिड डे मील शिक्षकों व प्रधानों के लिए मुसीबत से कम नहीं है। जिले के 16 सौ से अधिक प्रारंभिक स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को दोपहर का भोजन परोसने के लिए पीएम पोषण योजना का संचालन किया जा रहा है। जिससे पहली से आठवीं में पढ़ने वाले करीब 3 लाख बच्चे लाभान्वित हो रहे हैं। बच्चों को स्कूल की ओर आकर्षित करने तथा उसे दोपहर का भोजन उपलब्ध कराने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई। पिछले कुछ दिनों से बच्चों के दोपहर के भोजन पर महंगाई का असर दिखने लगा है। दोपहर के भोजन में उपयोग होने वले सब्जी, तेल, मिर्च, मसाला, फल, दूध जैसे खाद्य पदार्थों की कीमतों में लगातार उछाल बना हुआ है। इन सब के बाद भी स्कूलों में एमडीएम के लिए दी जाने वाली कन्वर्जन कास्ट में कोई बदलाव नहीं किया गया है। दो साल पहले जो कन्वर्जन कास्ट मिलता था, वहीं अब भी दी जा रही है। इससे स्कूलों में विद्यार्थियों को मिलने वाले खाद्य पदार्थ की गुणवत्ता पर भी सवाल उठने लगा है। विभाग की ओर से हमेशा प्रयास रहता है कि सभी प्रारंभिक स्कूलों में बच्चों को मेन्यू के अनुसार गुणवत्तायुक्त भोजन दिया जाए। इसके बाद भी अब तक बच्चों के भोजन के लिए मिलने वाली धनराशि में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। विभाग की ओर से प्रारंभिक स्कूलों में पढ़ने वाले छठी से आठवीं तक के प्रत्येक विद्यार्थी के लिए कन्वर्जन राशि 7.45 रुपये और पहली से पांचवीं तक के हर विद्यार्थी के लिए 4.97 रुपये प्रति छात्र की दर से राशि दी जाती है। इसके अलावा भोजन बनाने के लिए तय मात्रा में चावल अलग से दिया जाता है। कई स्कूल प्रधानों ने बताया कि समानों के दाम में काफी बढ़ोतरी हुई है। लिहाजा अब उनके लिए कन्वर्जन राशि कम पड़ने लगी है। इधर , डीईओ वीरेन्द्र कुमार ने बताया कि कन्वर्जन राशि बढ़ाने का अभी कोई निर्देश नहीं मिला है। निर्देश मिलने पर इसमें बदलाव किया जाएगा।

बच्चों को देना है पौष्टिक भोजन

पीएम पोषण योजना के तहत स्कूली बच्चों को मीन्यू के अनुसार पौष्टिक भोजना परोसना है। जिसमें सोमवार को चावल या रोटी, दाल, सोयाबीन की बरीयुक्त सब्जी, मंगलवार को चावल, दाल चना, अरहर व अन्य दाल । बुधवार को मौसमी सब्जी मिलाकर साथ में दूध, गुरुवार को गेहूं की रोटी, दाल परोसना है। शुक्रवार को तहरी मौसमी सब्जी मिलाकर, उसमें आलू सोयाबीन भी रहेगी। शनिवार को सब्जी चावल, सोयाबीन का सब्जी देना है। इसके अलावा पहले सलाद देने का भी प्रावधान किया गया था। जिसे बाद में हटा दिया गया।

epaper