DA Image
1 दिसंबर, 2020|2:17|IST

अगली स्टोरी

नवादा में वर्षों से चल रहा अवैध लॉटरी का धंधा

default image

लाखों की लॉटरी के साथ चार धंधेबाजों के पकड़े जाने के बाद अवैध लॉटरी का धंधा एक बार फिर से सुर्खियों में है। शहर के पुरानी बाजार, नारदीगंज गढ़ पर, कलाली रोड, मुस्लिम रोड, इस्लामनगर व भदौनी समेत शहर के प्राय: चौक चौराहों पर हर रोज यह धंधा बेखौफ चलता रहता है।

बताया जाता है कि इसमें हर रोज करोड़ों के वारे- न्यारे होते हैं। इस धंधे में फंसकर बड़ी संख्या में भोले- भाले लोग अपनी गाढ़ी कमायी लुटा बैठते हैं। अवैध लॉटरी का यह करोड़ों का धंधा गेसिंग के आधार पर होता है। लॉटरी प्रतिदिन खेली जाती है और हर अगले दिन तथा वीकली इसका ड्रा होता है। टिकट का रेट दस रुपये होता है, परंतु इनाम लाखों में होता है। कार्रवाई के नाम पर साल भर में एक- दो बार पुलिस की छापेमारी होती है, फिर मामला ठंडे बस्ते में चला जाता है। यही कारण है कि नवादा शहर में लॉटरी का यह करोड़ों का गोरखधंधा बेरोकटोक जारी है।

तो क्या नवादा में छपती हैं टिकटें!

हर बार छापेमारी में अलग- अलग राज्यों की टिकटें बरामद की जाती है। कभी सिक्किम, कभी मिजोरम व कभी अरूणाचल प्रदेश तो कभी पश्चिम बंगाल व नागालैंड की लॉटरी की टिकटें नवादा में छापेमारी के दौरान बरामद की जाती रही हैं। परंतु पुलिस को आजतक इस बात का पता नहीं चल सका कि लॉटरी की ये टिकटें कहां से आती है। अलबत्ता आशंका जतायी जाती रही है कि लॉटरी की टिकटें कहीं लोकल में ही छपाई जाती है। परंतु इन धंधेबाजों की जड़ें इतनी गहरी हैं कि आजतक इस बात का खुलासा नहीं हो सका।

जेल भेजे गये चारों धंधेबाज

30 अक्टूबर को गिरफ्तार किये गये चारों धंधेबाजों को शनिवार को जेल भेज दिया गया। नगर थाने की पुलिस ने गुप्त सूचना पर शुक्रवार को शहर के पुरानी बाजार ठठेरी गली में स्थित कृष्णा प्रसाद के घर पर छापेमारी कर चार धंधेबाजों को लाखों की लॉटरी के साथ गिरफ्तार किया था। इनमें नवादा पुरानी बाजार के ठठेरी गली के सीताराम प्रसाद का बेटा कृष्णा प्रसाद, मछली मार्केट के गौरीशंकर चौधरी का बेटा दिलीप चौधरी व उसका भाई प्रदीप चौधरी तथा मुस्लिम रोड के मो. सरफराज का बेटा मो. अमन शामिल थे। इनके पास से सिक्किम की 50 टिकटों की सौ से अधिक बंडल लॉटरी बरामद की गयी थी। साथ ही मौके से लॉटरी की बिक्री के 6264 रुपये कैश भी जब्त किये गये थे।

चार मार्च को कृष्णा के घर पड़ी थी रेड

नगर थाने की पुलिस ने चार मार्च 2020 की शाम शहर के पुरानी बाजार स्थित ठठेरी गली में स्थित कृष्णा प्रसाद के घर पर छापेमारी कर लाखों की लॉटरी के साथ उसके बेटे समेत तीन धंधेबाजों को गिरफ्तार किया था। इनके पास से 50- 50 की लौटरी के 247 बंडल बरामद किये गये थे। लॉटरी नागालैंड व सिक्किम की थी। मौके से 52 हजार नगद, दो मोबाइल, तीन कैलकुलेटर व करीब 50 रजिस्टर भी जब्त किये गये थे। गिरफ्तार लोगों में ठठेरी गली के कृष्णा प्रसाद का बेटा सुशील कुमार, झारखंड रांची के खूंटी जिले के गोविन्दपुर का निखिल कुमार व हिसुआ के खनखनापुर का मो. रूस्तम शामिल थे। इस मामले में चार मार्च 2020 को नगर थाने में कांड संख्या 211/2020 दर्ज है।

28 अगस्त 2019 को इस्लामनगर में रेड

नवादा शहर के इस्लाम नगर नूरानी मस्जिद के पास से पुलिस ने लाखों की लॉटरी जब्त की थी। इस मामले में नगर थाने में दर्ज प्राथमिकी में मो. फिरोज समेत अन्य आरोपित हैं। जब्त लॉटरी पश्चिम बंगाल व नागालैंड की थी। दो कार्टन में सीलबंद करीब ढाई सौ पैकेट लॉटरी मिली थी। गुप्त सूचना पर पुलिस ने इस्लाम नगर नूरानी मस्जिद के पास स्थित मो. फिरोज के घर पर छापेमारी की थी। छापेमारी के क्रम में फिरोज भाग निकला था।

01 जनवरी 2019 को गढ़पर पड़ी रेड

पुलिस ने शहर के गढ़ पर मोहल्ले में छापेमारी कर पश्चिम बंगाल की एक कार्टन लॉटरी के साथ दो धंधेबाजों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार धंधेबाजों में शहर के गढ़ पर मोहल्ले का उमाशंकर व विजय कुमार केसरी शामिल थे। इस मामले में नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने दोनों को 01 जनवरी को उमाशंकर के घर पर छापेमारी कर लॉटरी के साथ गिरफ्तार किया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Illegal lottery business has been going on in Nawada for years