DA Image
22 अक्तूबर, 2020|6:23|IST

अगली स्टोरी

मछली पालकों, विक्रेताओं और उद्यमियों को मिलेगा योजना का लाभ

default image

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के तहत मा्स्यियकी के क्षेत्र में लाभुक आधारित योजना के लिए अनुदानित दर पर लाभ दिए जाने के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किया गया है। योजना का लाभ लेने के लिए आठ अक्टूबर तक ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। इस योजना का उद्देश्य मछली उत्पादन के साथ-साथ उत्पादकता बढ़ाना, प्रौद्योगिकी, आधुनिकीकरण, मूल्य श्रृंखला और गुणवत्ता को मजबूत करना एवं खामियों को दूर करना तथा मत्स्य उत्पाद के नुकसान को कम करना है। इस योजना के तहत कुल 29 लाभ दिए जाएंगे। जिला मत्स्य पदाधिकारी इकबाल हुसैन ने बताया कि योजना के तहत अनुसूचित जाति-जनजाति और महिलाओं के लिए इकाई लागत का 60 प्रतिशत अनुदान प्रदत्त होगा जबकि अन्य वर्ग के लिए इकाई लागत का 40 प्रतिशत अनुदान देय होगा।

किन्हें मिलेगा लाभ

इस योजना का लाभ मत्स्य पालक, मत्स्य व्यवसायी, मत्स्य विक्रेता, स्वयं सहायता समूह, ज्वाइंट लायबिलिटी ग्रुप, मत्स्य सहकारी समिति, मत्स्य सहकारी संघ-महासंघ, मत्स्य किसान, मत्स्य उत्पादकों का समूह, संस्था, कंपनी, उद्यमी और दिव्यांग व्यक्ति को मिलेगा।

आवेदन की प्रक्रिया बेहद सहज

आवेदन की प्रक्रिया बेहद सहज है। विभाग की वेबसाइट पर जाकर लॉगइन करना है और ऑपरेशनल गाइडलाइन के अनुसार प्रपत्र भरकर समर्पित करना है। आवेदन के साथ ही एससीपी-डीपीआर की एक प्रति जिला मत्स्य कार्यालय में भी समर्पित करना है। लाभार्थी को स्वयं का एससीपी-डीपीआर तैयार कर अनिवार्य रूप से प्रस्ताव के साथ समर्पित करना है। डीपीआर टेंप्लेट वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। यहां उल्लेखनीय है कि डीपीआर और एससीपी लागत इकाई से ज्यादा हो सकती है किंतु अनुदान इकाई लागत के अनुरूप ही दी जाएगी।

इन योजनाओं का मिलेगा लाभ

आवेदक हैचरी निर्माण, रियरिंग तालाब निर्माण, एक्वा कल्चर, बायो फ्लॉक तालाब, अंगुलिका संचयन, सजावटी मछली पालन, लघु आरएएस की स्थापना, लघु बायो फ्लॉक, केज स्थापना, लघु व वृहद कोल्ड स्टोर एवं आइस प्लांट, रेफ्रिजरेटेड वाहन, थ्री व्हीलर, मोटरसाइकिल और साइकिल आइस बॉक्स समेत, इंसुलेटेड वाहन, लाइव फिश ब्रीडिंग सेंटर, लघु, मध्यम व बड़े फश फीड मिल, छोटे, लघु मध्यम और बड़े फिश फीड प्लांट, फिश कियोस्क, मोबाइल फिश कियोस्क, मछली ई ट्रेडिंग, ई मार्केटिंग व ई प्लेटफार्म तथा मत्स्य सेवा केंद्र के लिए लाभ दिए जाएंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fish farmers vendors and entrepreneurs will get the benefit of the scheme