ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार नवादाकेजी रेलखंड पर इंजन से टकराया ट्रैक्टर

केजी रेलखंड पर इंजन से टकराया ट्रैक्टर

किउल-गया रेलखंड पर जसौली गांव के समीप के रेलवे लाइन पर से गुजरने वाले खुले रोड पर एक ट्रैक्टर इंजन से टकराया गया। हालांकि इस घटना में कहीं कोई घायल नहीं हुआ, लेकिन ट्रैक्टर क्षतिग्रस्त हो गया। घटना...

केजी रेलखंड पर इंजन से टकराया ट्रैक्टर
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,नवादाTue, 16 Mar 2021 02:00 PM
ऐप पर पढ़ें

हिसुआ। निज संवाददाता

किउल-गया रेलखंड पर जसौली गांव के समीप के रेलवे लाइन पर से गुजरने वाले खुले रोड पर एक ट्रैक्टर इंजन से टकराया गया। हालांकि इस घटना में कहीं कोई घायल नहीं हुआ, लेकिन ट्रैक्टर क्षतिग्रस्त हो गया। घटना की सूचना मिलने के बाद रेल अधिकारियों ऩे आकर ट्रैक्टर को हटवाया और रेलखंड को चालू करवाया।

वरीय प्रशाखा अभियंता कार्य के तारकेश्वर प्रसाद ने बताया कि रविवार की शाम लाइट इंजन से ट्रैक्टर उस समय टकरा गया, जब इंजन रेलवे लाइन पर से गुजर रहा था। ट्रैक्टर चालक कान में हेडफोन लगाकर गाना सुन रहा था। घटना के बाद रेलखंड को चालू कर दिया गया, लेकिन पथ को बंद कर देने का निर्देश दिया हुआ है। सोमवार को रोड को बंद करने का काम शुरू कर दिया। दिनभर रेलखंड से गुजरने वाले खानपुर फरहा पथ को बंद करने का काम हुआ। हालांकि पथ को बंद करने का काम शुरू होने पर लोगों ने इसका विरोध भी किया। जसौली के करीब एक दर्जन ग्रामीण पहुंचकर इससे आवागमन ठप हो जाने की बातें रखी, लेकिन अधिकारियों ने इसके बड़ी जरूरत बतायी और रेलवे के सख्त निर्देश का हवाला दिया। ग्रामीणों को विरोध और इससे हानि की बातें होते रहीं, लेकिन रेलवे के अधिकारी रोड को बंद करवाने के लिए जेसीबी से गढ्ढा खुदवाने के काम में लगे रहे।

सैकड़ों वाहनों को आकर लौटना पड़ा

रेलखंड तक पहुंचने वाले वाहनों को वहां से आ-आकर लौटना पड़ा। हिसुआ स्टेट हाइवे 08 से आने वाले वाहनों को तो कम दूरी की परेशानी झेलनी पड़ती थी लेकिन एनएच 31 रजौली-नवादा रोड से आने वाले वाहनों को लंबी दूरी की परेशानी झेलनी पड़ रही थी। गौरतलब हो कि हिसुआ-नवादा स्टेट हाईवे -08 से एनएच 31 के फरहा तक जाने के लिए उक्त पथ है, लेकिन जसौली गांव के समीप रोड रेलवे लाइन पर से होकर गुजरता है और बिना किसी फाटक व गुमटी का है। उक्त पथ से रजौली और झारखंड की ओर जाने वाले वाहनों का खूब आना-जाना है लेकिन पथ पर रेलवे का सुरक्षित फाटक नहीं बना है। जेसीबी लगाकार पथ को बंद करने का काम चालू है। काम करवाने वरीय प्रशाखा अभियंता तारकेश्वर चौधरी, पीडब्लू आई के इंजीनियर शैलेंद्र चौधरी, आरपीएफ के एसवीआई फुदन सिंह सहित रेलवे पुलिस आदि पहुंचे थे।

-----------------

वर्जन

रेलखंड पर खुला रोड होने की वजह से घटनाएं होने की संभावना प्रबल रहती है। रोड बनाते समय रेलवे से अनुमति नहीं ली गयी, जिसका खामियाजा बाद में भुगतना पड़ता है। कल घटना हुई। रेलवे से पथ को बंद कर देने का निर्देश आया है। ट्रैक्टर चालक काफी लापरवाही बरतते हैं। कान में हेडफोन लगाकार ऊंची आवाज में गाना सुनते है और पथ को पार करते हैं। रोड को बंद करने के आलोक में तुरंत काम लगा दिया गया। - तारकेश्वर प्रसाद, रेलवे वरीय प्रशाखा अभियंता कार्य

epaper