DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  नवादा  ›  रॉयल्टी जमा किये बिना नहीं चलेंगे ईंट-भट्ठे
नवादा

रॉयल्टी जमा किये बिना नहीं चलेंगे ईंट-भट्ठे

हिन्दुस्तान टीम,नवादाPublished By: Newswrap
Fri, 19 Jan 2018 01:54 PM
रॉयल्टी जमा किये बिना नहीं चलेंगे ईंट-भट्ठे

सरकार को रॉयल्टी दिये बिना अब ईंट भट्ठों का संचालन नहीं हो सकेगा। खनन विभाग इनके विरुद्ध शिकंजा कसने जा रहा है। ऐसे ईंट भट्ठे बंद कराये जाएंगे व इनके संचालकों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। चालू वित्तीय वर्ष में मात्र 12 फीसदी ईंट भट्ठा संचालकों ने ही खनन की रॉयल्टी जमा की है। जिले में 235 ईंट भट्टा खनन विभाग में रजिस्टर्ड हैं। अभी तक इनमें से मात्र 28 भट्ठा संचालकों ने ही रॉयल्टी जमा की है। रॉयल्टी की समेकित राशि 74 हजार 5 सौ रुपये निर्धारित है। संचालकों को प्रतिवर्ष यह राशि खनन विभाग के कोष में जमा करना है।

पर्यावरण व प्रदूषण लाइसेंस अनिवार्य

ईंट भट्ठे के संचालन के लिए पर्यावरणीय स्वीकृति व प्रदूषण का लाइसेंस अनिवार्य है। अभी तक मात्र 28 संचालकों ने ही पर्यावरण व प्रदूषण का लाइसेंस जमा किया है। जिलास्तरीय पर्यावरणीय समाघात निर्धारण प्राधिकार (डिया)के पास 52 लोगों की पर्यावरणीय स्वीकृति के लिए आवेदन मिला है। सूचना के मुताबिक कई लोगों के पास राज्यस्तरीय पर्यावरणीय समाघात निर्धारण प्राधिकार (सिया) से पर्यावरण व प्रदूषण का लाइसेंस प्राप्त है, परंतु इनके द्वारा अभी तक इसके कागजात विभाग को नहीं दिये गये हैं।

नहीं जारी होगा ई चालान

ऐस ईंट भट्ठा संचालकों को ईंटों की बिक्री के लिए ई चालान जारी नहीं किये जाएंगे। विभागीय सूचना के मुताबिक रॉयल्टी समेत अन्य लाइसेंस जमा किये बिना ऐसे लोगों को ई चालान नहीं मिलेगा। ई चालान के लिए आईडी व पासवर्ड विभाग द्वारा जारी किये जाते हैं। इसके लिए स्थानीय खनन कार्यालय की अनुशंसा आवश्यक है।

वर्जन

रॉयल्टी जमा किये बिना जिले में ईंट भट्ठा का संचालन नहीं होगा। विभाग इनके विरुद्ध जल्द ही छापेमारी अभियान चलायेगा। सभी कागजात जमा किये बिना ईंटों की बिक्री के लिए ई चालान जारी नहीं होगा। - प्रमोद कुमार, खनन पदाधिकारी, नवादा।

संबंधित खबरें