DA Image
25 नवंबर, 2020|10:02|IST

अगली स्टोरी

मारपीट में बुरी तरह से घायल युवक की मौत

default image

मारपीट में बुरी तरह से घायल युवक की शनिवार की दोपहर इलाज के क्रम में पटना में मौत हो गयी। मृतक 20 वर्षीय दीपक कुमार मुफस्सिल थाना क्षेत्र के नेया गांव के सुनील कुमार का बेटा था। परिजन उसकी लाश लेकर शाम में नवादा पहुंचे। शव का सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया। परिजनों के मुताबिक घटना पिछले 26 अक्टूबर की दोपहर करीब दो बजे नेया नहर के पास घटी बतायी जाती है। घटना में बुरी तरह से घायल दीपक को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद दीपक को पीएमसीएच रेफर कर दिया गया था। जबकि घटना में घायल एक अन्य युवक सोनू कुमार का इलाज सदर अस्पताल में किया गया था। पीएमसीएच में स्थिति में सुधार नहीं होता देख उसे पटना के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां 28 अक्टूबर को उसके ब्रेन का ऑपरेशन किया गया। परंतु दीपक ने इलाज के क्रम में शनिवार की दोपहर करीब 12 बजे दम तोड़ दिया।

आठ लोगों को बनाया गया आरोपित

मृतक के पिता सुनील कुमार ने पुलिस को सदर अस्पताल में दिये गये बयान में आठ लोगों को उसके पुत्र की हत्या के लिए आरोपित किया है। इनमें मिश्री मांझी का बेटा रामाशीष मांझी व सलीम मांझी, धनेश्वर मांझी का बेटा मिथुन मांझी, दिलीप मांझी व मनोहर मांझी, काली मांझी का बेटा लोभी मांझी, लालो मांझी का बेटा राजेश मांझी व बच्चू रविदास का बेटा धर्मेन्द्र रविदास शामिल हैं। सभी आरोपित नगर थाना क्षेत्र के गौसचक मिल्की गांव के रहने वाले बताये जाते हैं।

पूर्व से घात लगाये बैठे थे आरोपित

सुनील कुमार के मुताबिक घटना के वक्त उनका बेटा दीपक व उसका दोस्त शैलेन्द्र कुमार सिंह का बेटा सोनू कुमार अपने खेत में लगी फसल देखने जा रहा था। उनका खेत सिसवां पार नदी के पास था। इसी बीच नेया नहर के पास पूर्व से घात लगाये बैठे आरोपित दोनों को देखते ही लाठी-डंडा लेकर उन पर टूट पड़े। मारपीट में उनका बेटा बेहोश गया, जबकि सोनू का सिर फट गया। सोनू के चिल्लाने की आवाज पर खेतों में काम कर रहे लोग दौड़े तब आरोपित भाग निकले। दोनों को सदरअस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से दीपक को रेफर कर दिया गया।

हर साल फसलों को चरा देते थे

सुनील का आरोप है कि उनके खेतों में लगी फसल आरोपितों द्वारा हर साल उनके मवेशियों से चरा दी जाती थी। घटना से कुछ दिनों पूर्व दीपक व सोनू ने आरोपितों को ऐसा करने से मना किया था। परंतु आरोपितों ने उस दिन दोनों को गाली-गलौज कर भगा दिया था। मुफस्सिल एसएचओ एलबी पासवान ने बताया कि फर्द बयान मिलने पर प्राथमिकी दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:A badly injured young man died in a fight