DA Image
23 अक्तूबर, 2020|7:49|IST

अगली स्टोरी

नाबालिग लड़की से दुष्कर्म में दोषी को 10 साल की कैद

default image

नवादा की एक विशेष अदालत ने नाबालिग से दुष्कर्म के एक मामले में दोषी को दस वर्ष की सजा सुनाई। दुष्कर्म से जुड़े मामले का निपटारा करते हुए विशेष न्यायाधीश सह अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शशिकांत ओझा ने दोषी पर 50 हजार रुपये का आर्थिक दंड भी लगाया। अर्थदंड का भुगतान नहीं करने पर दोषी को एक वर्ष के अतिरिक्त कारावास की सजा भी सुनाई गई। वहीं अदालत ने पीड़िता को पांच लाख रुपये का भुगतान करने का आदेश बिहार सरकार को दिया।

मामला वारिसलीगंज थाना क्षेत्र की एक नाबालिग से दुष्कर्म का है। इस मामले में नवादा की महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज है। सजा सुनाने के बाद आरोपित वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के मीरगंज निवासी संजय महतो उर्फ मुन्ना महतो को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

21 दिसम्बर 2015 की है घटना

जानकारी के अनुसार वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के मीरगंज निवासी संजय महतो उर्फ मुन्ना महतो ने एक बच्ची से मजदूरी कराया था और मजदूरी मांगने आई बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। इस बाबत महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। घटना 21 दिसम्बर 2015 की बताई जाती है। गवाहों के बयान व पीड़िता से बाल मित्र के रूप में घटना से सम्बंधित आदलत को दी गई जानकारी के आधार पर विशेष न्यायाधीश सह अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शषिकांत ओझा ने यह सजा सुनाई।

हाईकोर्ट के आदेश पर दोबारा सुनवाई

उल्लेखनीय है कि पूर्व में आरोपित को इसी मामले में दोषी पाते हुए नवादा की एक अदालत ने 16 नवम्बर 2017 को 10 वर्ष की सजा सुनाई थी। कोर्ट के फैसले के खिलाफ आरोपित द्वारा हाईकोर्ट में अपील की गयी थी। हाईकोर्ट ने अपील की सुनवाई के उपरांत मामले को पुनः सुनवाई हेतु नवादा की अदालत को वापस कर दिया था। जहां वर्तमान न्यायाधीश ने भी आरोपित को दोषी मानते हुए उसकी सजा बरकरार रखी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:10-year-old man convicted for raping a minor girl