ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मुजफ्फरपुरआर-वैलेट पेमेंट सिस्टम से भी ले सकते हैं एवीटीएम से जेनरल टिकट

आर-वैलेट पेमेंट सिस्टम से भी ले सकते हैं एवीटीएम से जेनरल टिकट

रेलवे ने आर-वैलेट पेमेंट सिस्टम से ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) से जेनरल टिकट लेने की सुविधा को अपग्रेड किया...

आर-वैलेट पेमेंट सिस्टम से भी ले सकते हैं एवीटीएम से जेनरल टिकट
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरMon, 04 Mar 2024 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

- रेल के सेंटर फॉर रेलवे इंस्टीट्यूट ने आर वैलेट सिस्टम में किए हैं बदलाव
- वैलेट के इस्तेमाल के लिए यूटीएस ऑनलाइन पर होना होगा अनिवार्य

न्यूमेरिक

- 07 सेकंड में एवीटीएम से कट रही जेनरल श्रेणी की टिकट

मुजफ्फरपुर, वरीय संवाददाता।

रेलवे ने आर-वैलेट पेमेंट सिस्टम से ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) से जेनरल टिकट लेने की सुविधा को अपग्रेड किया है। इसके लिए रेलवे के सेंटर फॉर रेलवे इंस्टीट्यूट (क्रिस) ने सिस्टम में बदलाव किया है। यात्री अब आर-वैलेट के माध्यम से एटीवीएम से टिकट तभी बुक कर सकते हैं, जब वह यूटीएस ऑन मोबाइल एप पर पंजीकृत हो और वैलेट में पर्याप्त राशि हो।

वाणिज्य विभाग के एक वरीय पदाधिकारी ने बताया कि आर-वैलेट पेमेंट के उपयोग से एटीवीएम से टिकट लेने के लिए आवश्यक प्रक्रिया में सबसे पहले यात्री को एटीवीएम पर टिकट के प्रकार का चयन करना होगा। फिर एटीवीएम एप्लीकेशन पर पेमेंट मोड आर-वैलेट चुनना होगा। यात्री को यूटीएस ऑन मोबाइल एप से लिंक मोबाइल नंबर को एटीवीएम पर ओटीपी के माध्यम से सत्यापित करना होगा। मोबाइल नंबर सत्यापित होते ही टिकट प्रिंट हो जाएगा।

आर-वैलेट से टिकट लेने पर बोनस भी मिलेगा :

यदि यात्री आर-वैलेट से बुक टिकट रद्द कर देता है, तो रिफंड राशि उसके आर-वैलेट खाते में जमा कर दी जाएगी। मालूम हो कि एटीवीएम में आर-वैलेट के माध्यम से टिकट की बुकिंग पर भी तीन फीसदी बोनस की सुविधा मिलेगी जो मौजूदा यूटीएस ऑन मोबाइल एप पर लागू होगा।

जंक्शन पर 40 फीसदी यात्री लेते एवीटीएम से टिकट :

मुजफ्फरपुर जंक्शन पर चार एवीटीएम मशीनें लगी है। इनमें से दो पर रेलवे के कर्मी है, जबकि दो मशीन से यात्री सीधे टिकट बुक कर प्रिंट कर सकते हैं। सिर्फ सात सेकेंड में भी एवीटीएम से टिकट की बुकिंग होती है। इससे जंक्शन के नये यूटीएस भवन में लगी एवीटीएम मशीन से करीब 40 फीसदी लोग टिकट ले रहे हैं। काउंटर से टिकट लेने में करीब चार से पांच मिनट लगता है। साथ ही भीड़ भी रहती है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें