Workers searching for social workers on social media - गेहूं काटने को सोशल मीडिया पर खोजे जा रहे मजदूर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गेहूं काटने को सोशल मीडिया पर खोजे जा रहे मजदूर

गेहूं काटने को सोशल मीडिया पर खोजे जा रहे मजदूर

1 / 2उत्तर बिहार में गेहूं काटने के लिए मजदूर नहीं मिल रहे हैं। इस कारण गेहूं की फसल तैयार होने के बावजूद खेतों में ही लगी हुई है। इस बीच बारिश भी लगातार हो रही है। इससे फसल बर्बाद होने का खतरा मंडरा रहा...

गेहूं काटने को सोशल मीडिया पर खोजे जा रहे मजदूर

2 / 2उत्तर बिहार में गेहूं काटने के लिए मजदूर नहीं मिल रहे हैं। इस कारण गेहूं की फसल तैयार होने के बावजूद खेतों में ही लगी हुई है। इस बीच बारिश भी लगातार हो रही है। इससे फसल बर्बाद होने का खतरा मंडरा रहा...

PreviousNext

उत्तर बिहार में गेहूं काटने के लिए मजदूर नहीं मिल रहे हैं। इस कारण गेहूं की फसल तैयार होने के बावजूद खेतों में ही लगी हुई है। इस बीच बारिश भी लगातार हो रही है। इससे फसल बर्बाद होने का खतरा मंडरा रहा है। इसको देखते हुए मुजफ्फरपुर के किसानों ने मजदूर का जुगाड़ करने के लिए सोशल मीडिया पर मुहिम चलाया है। कई किसानों ने सोशल साइट पर पोस्ट किया है कि अगर आपके इलाके में गेहूं काटने वाले मजदूर हैं तो हमारे नंबर पर संपर्क करें। एक नहीं कई किसानों ने इस तरह का पोस्ट किया है। कई लोगों ने अपने दूर के रिश्तेदारों को अपने पोस्ट से टैग करते हुए उनसे अनुरोध किया है कि अगर उनकी जानकारी में गेहूं काटने वाले मजदूर हैं तो उन्हें संपर्क करें। राहुल कुमार ने अपने पोस्ट में लिखा है कि उन्हें गेहूं कटवाना है, आप लोगों की नजर में कोई है तो बताना। वहीं, जब ‘हिन्दुस्तान की टीम ने कुढ़नी के किसान राहुल कुमार से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि कई दिनों से गेहूं काटने के लिए मजदूर से संपर्क कर रहा हूं। कोई गेहूं काटने के लिए तैयार नहीं है। ऐसे में स्थिति यह है कि घर-परिवार के लोग ही गेहूं काटने को मजबूर हैं।

चौधरी सिंह ने सोशल साइट पर पोस्ट किया है कि 10 बीघे में लगी गेहूं की फसल कटवानी है। मजदूर नहीं मिल रहा है आप लोगों के नजर में कोई है तो बताइएगा। राकेश कुमार रौशन ने पोस्ट किया है कि गेहूं कटवाना है, लेकिन हमारे गांव में मजदूर नहीं मिल रहे हैं। इसलिए मजदूर भाई संपर्क करें जल्दी। वहीं, राधा मोहन प्रसाद यादव ने अपने पोस्ट में लिखा है कि गेहूं कटवाना है, संपर्क करें। इस तरह के पोस्ट दो दिनों से उत्तर बिहार के किसान सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं।

व्हाट्सएप ग्रुप पर भी मैसेज हो रहा वायरल

कई किसान व्हाट्सएप ग्रुप पर भी इस तरह का मैसेज चला रहे हैं। इसमें सैकड़ों लोग जुड़े हुए हैं। सभी एकदूसरे से मजदूर उपलब्ध कराने का आग्रह कर रहे हैं। मजदूरों की किल्लत उत्तर बिहार में है, लेकिन इस बार यह समस्या इतनी अधिक हो गई है कि अब सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Workers searching for social workers on social media