DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढाई सौ शाखाओं में काम ठप, 15 सौ करोड़ की बैंकिंग प्रभावित

ढाई सौ शाखाओं में काम ठप, 15 सौ करोड़ की बैंकिंग प्रभावित

विभिन्न मांगों को लेकर बुधवार से शुरू बैंककर्मियों की दो दिवसीय हड़ताल से जिले के सरकारी व निजी बैंकों की तकरीबन ढाई सौ शाखाओं में ताले लटके रहे। हड़ताली कर्मियों ने शहर में निजी बैंक एचडीएफसी, कोटक महिन्द्रा व आईसीआईसीआई बैंक की शाखाओं को बंद कराया। हड़ताल के कारण लगभग एक अरब रुपये का चेक क्लीयर नहीं हो सका। 15 सौ करोड़ रुपये से अधिक की बैंकिंग और कारोबार प्रभावित हुआ। उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक में हड़ताल नहीं होने से ग्रामीण क्षेत्रों में थोड़ी राहत है।

शहर के सौ से अधिक एटीएम पूरी तरह से बंद रहे। लोग पैसा निकालने के लिए भटकते रहे। जीरोमाइल, सरैयागंज, हरिसभा चौक, मिठनपुरा और अघोरिया बाजार स्थित सभी एटीएम बंद थे। टीम बनाकर आंदोलनकारी कर्मचारियों ने सुबह आठ बजे से ही शहर के प्रमुख स्थानों के एटीएम को बंद कराया। सबसे अधिक प्रभाव मिठनपुरा, सरैयागंज, अखाड़ाघाट रोड, अघोरिया बाजार चौक, छाता चौक, लेनिन चौक, बैरिया, भगवानपुर चौक, ब्रह्मपुरा, बैरिया व जीरोमाइल के एटीएम पर पड़ा। इन क्षेत्रों को मिलाकर सौ से अधिक एटीएम हैं। इसमें निजी बैंकों के एटीएम भी शामिल हैं। चेतावनी से डरे गार्डों ने दोपहर तक एटीएम नहीं खोले।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के जिला संयोजक उत्तम कुमार ने बताया कि हड़ताल का असर पड़ा है। शाखाओं में कार्य नहीं हुए। उन्होंने बताया कि एटीएम में कैश लोड किया गया था, लेकिन कर्मियों के बंद करा देने से लोग निकासी नहीं कर सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Work stalled in 2.5 hundred branches, banking impact of 15 hundred crore