DA Image
5 अगस्त, 2020|10:14|IST

अगली स्टोरी

बिना परीक्षा प्रमोशन नहीं, यूजीसी ने विकसित देशों का दिया हवाला

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने परीक्षा को लेकर विकसित देशों का हवाला दिया है। छात्रों के विश्व स्तरीय शैक्षणिक और कॅरियर की प्रगति से संबंधित हितों के लिए शैक्षणिक कैलेंडर के बारे में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। यूजीसी की ओर से टर्मिनल सेमेस्टर व फाइनल ईयर की परीक्षा लेने के लिए कहा गया है। यूजीसी ने अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, हांगकांग सहित अन्य देशों की परीक्षाओं का उदाहरण दिया है।
यूजीसी ने कहा है कि इन देशों के विश्वविद्यालयों ने परीक्षाएं संचालित की हैं या संचालित कर रहे हैं। ऑनलाइन, ऑफलाइन या या मिश्रित परीक्षाएं ली जा सकती हैं। पहले यूजीसी की ओर से जुलाई में परीक्षा लेने की बात कही गई थी। अब सितंबर के अंत तक परीक्षा लेने के लिए कहा गया है। अक्टूबर में रिजल्ट देना है। यूजीसी ने कहा है कि परीक्षा में प्रदर्शन योग्यता, आजीवन विश्वसनीयता, प्रवेश छात्रवृत्ति, अवार्ड प्लेसमेंट और बेहतर भविष्य की संभावनाओं के लिए व्यापक वैश्विक स्वीकार्यता में योगदान देता है। यूजीसी ने तमाम प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कहा है।
कमेटी फाइनल नहीं कर सकी है रिपोर्ट
सूबे के विवि की परीक्षाओं के लिए बनाई गई सात सदस्यीय कमेटी की रिपोर्ट फाइनल नहीं हो सकी है। परीक्षा किस आधार पर और कैसे हो, इस पर रणनीति तैयार होनी था। इसकी रिपोर्ट राजभवन को सौंपी जानी है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Without exam promotion UGC cited developed countries