DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीडियो, शहर में पानी के लिए दो जगह बवाल

शहर में पानी के लिए दो जगह बवाल

शहर में पेयजल संकट थमने का नाम नहीं ले रहा। पानी के लिए लोगों की बेचैनी बढ़ती जा रही है। वहीं, नगर निगम की लापरवाही व उदासीनता जारी है। समस्या के बीच पानी टैंकर उपलब्ध नहीं होने पर शनिवार को शहर में दो स्थानों पर लोगों का गुस्सा भड़क उठा। लोगों ने सड़क को जमकर बवाल किया। पेयजल योजना में हो रही देरी को लेकर भी उनमें खासी नाराजगी थी। हंगामे के दौरान महिलाओं ने हरिसभा चौक पर एसडीपीओ सरैया को घेर लिया। काफी मशक्कत के बाद एसडीपीओ वहां से निकल सके। उधर, लोगों के आक्रोश का शिकार वार्ड पार्षदों को भी होना पड़ा।

दोपहर से पहले वार्ड-31 के दास टोला के लोगों ने पानी को लेकर बवाल किया। कच्ची-पक्की (अतरदह) रोड को जामकर हंगामा किया। पार्षद रूपम कुमारी और उसके पति जीवेश कुमार के खिलाफ नारेबाजी की। लगातार कई वर्षों से पानी के घोर संकट के बावजूद कोई उपाय नहीं होने पर लोग नाराज थे। वहीं, पार्षद रूपम कुमारी ने कहा कि पूर्व पार्षद ने इलाके में पानी के इंतजाम पर कोई ध्यान नहीं दिया। अब उसका कोप वह झेल रही हैं। नगर निगम का हाल यह कि बार-बार मांग के बावजूद पानी का टैंकर उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। नगर आयुक्त से बातचीत हुई है। उन्होंने एक माह में इलाके में पानी की योजना का काम शुरू कराने का आश्वासन दिया है। पार्षद के काफी समझाने के बाद लोग शांत हुआ और जाम हटाया। वहीं, हंगामे की सूचना मिलने व नगर आयुक्त के निर्देश पर दो टैंकर पानी तत्काल कच्ची-पक्की रोड में भेजा गया।

वहीं, दोपहर बाद आमगोला रोड में पुराने स्टेट बैंक के पास स्थित स्लम बस्ती के लोगों ने पानी संकट को लेकर हरिसभा चौक पर बवाल किया। लोगों ने टायर जलाकर रोड जामकर हंगामा किया। लोगों के आक्रोश का शिकार सरैया एसडीपीओ शंकर झा भी बने। महिलाओं ने उनकी गाड़ी को घेर उसके ऊपर बैठ गईं। गाड़ी पर झाड़ू व डंडे भी पटके गए। बड़ी मशक्कत कर किसी तरह एसडीपीओ को वहां से निकाला गया। स्थानीय लोगों ने भी आक्रोशित महिलाओं आधे घंटे तक समझाया, लेकिन वे नहीं मानी। वहीं, दो घंटे तक हंगामा और जाम के बाद मिठनपुरा थाने के अधिकारी व जवान पहुंचे और किसी तरह लोगों का समझा-बुझाकर जाम हटवाया। इस क्रम में स्थानीय पार्षद से भी पुलिस ने बातचीत की और नगर आयुक्त के आश्वासन पर बुधवार तक पानी पंप चालू करा देने की बात कही।

उधर, अपर नगर आयुक्त विशाल आनंद ने बताया कि दोनों जगह पर हुए हंगामे के बारे में नगर आयुक्त को जानकारी दे दी गई है। वह स्वयं उपनगर आयुक्त हीरा कुमारी और रंधीर लाल के साथ वहां गए थे। लोगों को आश्वासन देकर जाम हटाया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two places for water in the city surrounded by SDPO