DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हादसा रोकने को फॉग सेफ डिवाइस लगाकर चलेंगी ट्रेनें

हादसा रोकने को फॉग सेफ डिवाइस लगाकर चलेंगी ट्रेनें

ठंड आते ही कुहासा बढ़ने लगा है। कुहासे के दौरान गाड़ियों का सुरक्षित परिचालन रेलवे के लिए चुनौतिपूर्ण रहता है। इसके मद्देनजर रेल प्रशासन ने ट्रेनों के सुरक्षित परिचालन को तैयारियां शुरू कर दी हैं, ताकि हादसे की संभावना खत्म की जा सके।

सोनपुर रेल मंडल के डीआरएम अतुल्य कुमार सिन्हा ने विभिन्न रेल संगठनों के साथ सुरक्षित रेल परिचालन पर चर्चा की। इस दौरान निर्णय लिया गया कि फरवरी तक कुहासे वाले इलाकों में फॉग सेफ डिवाइस का उपयोग कर ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा। इसके अलावे ट्रैक पर पटाखे जलाकर चालक को संकेत दिया जाएगा कि आगे सिग्नल है। ट्रेन परिचालन के दौरान वॉकी-टॉकी का अधिक से अधिक उपयोग करने का भी निर्देश दिया गया है। डीआरएम ने रेल परिचालन विभाग को निर्देश दिया है कि वह कुहासे के दौरान गति कम करके ट्रेनों का परिचालन करें। सिग्नल पोस्ट, मानव फाटक और मोड़नुमा रेलवे लाइन के आसपास ऊपर चमकने वाली पट्टियां भी लगाए।

सुरक्षा के मद्देनजर 15 फरवरी तक दर्जन भर ट्रेनें रद्द

कोहरे के कारण दुर्घटना नहीं हो किसके लिए रेलवे ने एहतियातन उत्तर बिहार की लगभग दर्जन भर महत्वपूर्ण ट्रेनों को 15 फरवरी तक के लिए रद्द कर दिया है। वहीं, कई ट्रेनों के परिचालन में कटौती भी की गई है। रेलवे ने 13 दिसंबर से 15 फरवरी तक ट्रेनों को रद्द किया है। जयनगर से अमृतसर एक्सप्रेस, लिच्छवी एक्सप्रेस, टाटा-छपरा जैसे कई ट्रेनों का परिचालन इस अवधि में नहीं होगा। इसके अलावे दर्जन भर ट्रेनों के फेरे में भी कटौती की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Trains will be run by fog safe device