The western region was planning to scare the IED - पश्चिमी क्षेत्र को आईईडी से दहलाने की थी साजिश DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पश्चिमी क्षेत्र को आईईडी से दहलाने की थी साजिश

पश्चिमी क्षेत्र को आईईडी से दहलाने की थी साजिश

साहेबगंज में 30 अप्रैल को हुए मुठभेड़ ने नक्सलियों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। एसएसबी व एसटीएफ ने इस मुठभेड़ में एक इनामी व हार्डकोर नक्सली रमेश पासवान को ढेर करते हुए चार नक्सलियों को दबोचा था। इन्हें रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में दी गई अर्जी में पुलिस ने चौंकाने वाले तथ्यों का खुलासा किया है।

मुठभेड़ के वक्त खेमकरना के हुस्सेपुर टोला में करीब 15 नक्सली जुटे थे। यहां पश्चिमी क्षेत्र के पारू, देवरिया, साहेबगंज व सरैया में आईईडी लगाकर पुल-पुलिया में विस्फोट करने की साजिश रची जानी थी। पुलिस ने कोर्ट को दिए दैनिकी (केस डायरी) और साहेबगंज थाने में दर्ज एफआईआर में बताया है कि 30 अप्रैल को साहेबगंज के खेमकरना के हुस्सेपर बाजार स्थित एक ईंट-भट्टा में मीटिंग के लिए रमेश पासवान व अन्य नक्सली जुटे थे। इसकी सूचना मिलते ही एसएसबी की 32वीं बटालियन की ‘ई कंपनी के इंस्पेक्टर कुमार रितूराज और एसटीएफ की टीम ने कार्रवाई की। टीम ने नक्सली मिंटू कुमार, कुंदन कुमार, श्याम बहादूर व अनिल राम को दबोचा। उनके पास से मुठभेड़ स्थल से एक पिस्टल, पांच कारतूस, दो खोखा, पिलेट और काफी संख्या में नक्सली साहित्य व पर्चे मिले थे। पकड़े गए नक्सलियों ने मीटिंग के संबंध में पूछताछ के दौरान पुलिस को उक्त जानकारी दी।

15 पर एफआईआर

30 अप्रैल को एसएसबी-एसटीएफ की संयुक्त टीम के साथ मुठभेड़ में रमेश पासवान ढेर हुआ था। वह 50 हजार का इनामी और एक दर्जन जिलों में वांटेड था। मामले में एसटीएफ के डीएसपी दिलीप कुमार के बयान पर नौ नामजद समेत 15 के खिलाफ साहेबगंज थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The western region was planning to scare the IED