DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल के जिस कमरे में बूथ, वहां रैम्प

स्कूल के जिस कमरे में बूथ, वहां रैम्प

स्कूल के जिस कमरे में बूथ है, वहां रैम्प बनाया जाएगा। दिव्यांगों के साथ महिलाओं समेत अन्य सभी वोटरों को बूथ पर सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने को लेकर गुरुवार को आयोजित समीक्षा बैठक में यह निर्देश सभी बीईओ को दिया गया।

जिले में लगभग 2 हजार स्कूलों में बूथ बनाये गये हैं। इन बूथ पर बिजली, रैम्प, शौचालय समेत सभी सुविधाओं को लेकर समीक्षा की गई। समीक्षा में अधिकांश बूथों पर बिजली की समस्या सामने आयी। बड़ी संख्या में ऐसे स्कूल हैं जहां बिजली नहीं है। बूथ बनाए गए कई स्कूल ऐसे भी हैं जहां बिजली पहले लगी थी मगर अब काट दी गई है। विभिन्न स्कूल के प्राचार्य ने यह समस्या उठाई कि बिल जमा नहीं करने के कारण लाइन काट दी गई है। औराई समेत विभिन्न प्रखंड के बूथ बने कई स्कूल भी सामने आए जहां रैम्प नहीं हैं। इन स्कूलों में जल्द से जल्द रैम्प बनवाने का निर्देश डा. विमल कुमार ठाकुर ने दिया। डीईओ ने निर्देश दिया कि विकास मद की राशि से एचएम स्कूलों में बिजली की व्यवस्था करवाएंगे। इसके साथ ही जिन स्कूलों में शौचालय और चापाकल की स्थित खराब है, उसे भी जल्द से जल्द दुरुस्त कराने का निर्देश दिया गया। डीपीओ सर्व शिक्षा अभियान को इसकी मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी दी गई। इसके साथ ही समीक्षा में छात्रवृति और साइकिल योजना के राशि वितरण की रिपोर्ट भी ली गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The school room where the booth is there the ramp