DA Image
23 जुलाई, 2020|8:06|IST

अगली स्टोरी

पहले से जमा सूखा भोजन खत्म होने लगा

default image

औराई में लगातार सातवें दिन गुरुवार को भी लखनदेई व मनुषमारा के जलस्तर में वृद्धि होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। पहले से जमा सूखा भोजन खत्म होने लगा है। चावल-आटा रहते हुए खाना नहीं बन पा रहा है। जलावन व रसोई गैस की व्यवस्था बाढ़ पीडितों के लिए मुसीबत बनी हुई है। हजारों की आबादी के सामने भोजन का संकट उत्पन्न हो गया है। ईंशाफ मंच के आफताब आलम ने बताया कि विस्था, कोठ टोला राजखंड, संभुता डीह टोला, उसरी बेसी, हरपुर बेसी, बैद्यनाथ बेसी, घुसुकपुर टोला रामखेतारी, खेतलपुर डीह, पर्री मांझी टोला, गंगेया, बसतपुर, घनश्यामपुर, नयागांव चौधरी व पासवान टोला, परसामा टोला समेत 41 गांवों में लोगों के निकलने का कोई रास्ता कहीं से नहीं बचा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The pre-stored dry food started to run out