The death of the spleen victim's child, Je confirmed one - चमकी पीड़ित बच्चे की मौत, एक में जेई की पुष्टि DA Image
19 नबम्बर, 2019|7:56|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चमकी पीड़ित बच्चे की मौत, एक में जेई की पुष्टि

चमकी व तेज बुखार से पीड़ित एसकेएमसीएच में इलाजरत कांटी पानापुर के दो वर्षीय सन्नी कुमार की सोमवार को मौत हो गई। उसके ब्लड में शुगर की कमी होने की बात बताई गई थी। उधर, केजरीवाल अस्पताल पांच दिनों से इलाजरत सीतामढ़ी के रून्नीसैदपुर की पांच वर्षीय सुजाता कुमारी में जेई की पुष्टि हुई है। देर शाम उसे एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया है। पीआईसीयू में भर्ती बच्ची की हालत नाजुक बताई गई है। इसके साथ जेई व एईएस से मरने वाले बच्चों की संख्या 16 हो गई है। इसमें जेई से तीन और एईएस से 13 बच्चों की मौत हुई है। इससे पहले दोपहर में केजरीवाल अस्पताल से साहेबगंज प्रखंड के मोरमारा गांव के साढ़े तीन वर्षीय राजा कुमार को सीएस डॉ. ललिता सिंह के आदेश पर एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया। लेकिन, बच्चे के परिजन उसको एसकेएमसीएच ले जाना नहीं चाह रहे थे। उनका आरोप था कि एसकेएमसीएच में देर रात को शिशु रोग विशेषज्ञ नहीं रहते हैं। डॉक्टरों ने काफी समझा-बूझा कर उन्हें एम्बुलेंस से एसकेएमसीएच भेजा है। हालांकि, सीएस ने उनके आरोप को निराधार बताया है। कहा कि बच्चे को बेहतर इलाज के लिए एसकेएमसीएच रेफर किया गया है। इस बारे में केजरीवाल के प्रशासक बीबी गिरि ने बताया कि सुजाता में देर शाम जेई की पुष्टि हुई। इसके बाद उसे रेफर किया गया। अब अस्पताल के एईएस वार्ड में एक भी बच्चा नहीं है। इधर, एसकेएमसीएच में सोमवार को मेजरगंज सीतामढ़ी के तीन वर्षीय गौरव कुमार, भगवानपुर चौक की तीन वर्षीय आशियान प्रवीण को तेज बुखार व चमकी की समस्या के बाद भर्ती किया गया। दोनों अज्ञात एईएस के मरीज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The death of the spleen victim's child, Je confirmed one