DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीईटी सर्टिफिकेट की अब बोर्ड करेगा जांच

टीईटी सर्टिफिकेट की अब बोर्ड करेगा जांच

जिले के टीईटी शिक्षकों के प्रमाण पत्र को जांच के लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को भेजा जा रहा है। पारू, सरैया, बोचहां, बंदरा समेत विभिन्न प्रखंडों में टीईटी प्रमाण पत्र की वैद्यता की रिपोर्ट दो साल में लगातार बदलती रही है। फर्जी शिक्षक बहाली को लेकर चल रहे टीईटी जांच में अब तक कई बार फर्जी शिक्षकों की सूची बदल चुकी है। अलग-अलग अधिकारियों की ओर से दी गई रिपोर्ट के आधार पर फर्जी शिक्षकों का नाम भी बदलता रहा है। विभिन्न प्रखंड में दर्जनों शिक्षक ऐसे हैं जिनका वेतन सर्टिफिकेट संदिग्ध होने की रिपोर्ट देते हुए बंद किया गया है।

इन शिक्षकों का वेतन करीब एक वर्ष से बंद है। मीनापुर का मामला सामने आने के बाद हाईकोर्ट ने ऐसे सभी शिक्षकों को अपने सर्टिफिकेट की वैद्यता सही साबित करने का एक और मौका दिया है। 27 जुलाई से अलग-अलग प्रखंड के लिए पांच अगस्त तक तिथि निर्धारित की गई है। अब तक दो प्रखंड की तिथि निकल चुकी है। इसमें महज एक प्रखंड पारू से ही 26 शिक्षकों ने अपना सर्टिफिकेट सौंपा है। इन शिक्षकों का वेतन पिछले कई माह से बंद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:TET certificates will now be examined