DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  मुजफ्फरपुर  ›  10 थानेदार समेत 250 दारोगा-जमादार का वेतन रुका
मुजफ्फरपुर

10 थानेदार समेत 250 दारोगा-जमादार का वेतन रुका

हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरPublished By: Newswrap
Mon, 31 May 2021 08:20 PM
10 थानेदार समेत 250 दारोगा-जमादार का वेतन रुका

मुजफ्फरपुर। वरीय संवाददाता

जिले में पेंडिंग चल रहे कांडों के निष्पादन में दिलचस्पी नहीं दिखाने व टारगेट पूरा नहीं करने वाले 10 थानेदार समेत 250 दारोगा-जमादार का वेतन पर रोक लगा दी गयी है। सभी आईओ को कांडों के अद्यतन रिपोर्ट वरीय अधिकारियों को सौंपने का निर्देश दिया गया है। इसके बाद ही उनके वेतन भुगतान पर रोक के आदेश को हटाया जाएगा।

पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक, जिले में वर्तमान साढ़े 16 हजार से अधिक केस लंबित हैं। इसमें सर्वधिक शहरी क्षेत्र के अहियापुर, नगर और सदर, पश्चिमी अनुमंडल में कांटी, मोतीपुर और कुढ़नी में हैं। इसके अलावा पूर्वी अनुमंडल में सकरा, मीनापुर में भी ज्यादा केस लंबित हैं। 1500 ऐसे मामले हैं जिसमें आईओ ने सिर्फ केसों का आदान-प्रदान किया है। मालूम हो कि, हिन्दुस्तान अखबार में केसों के निष्पादन को लेकर खबर प्रकाशित की गई थी। इसमें बताया गया था कि नये मामले थानों में आधे से कम दर्ज हो रहे हैं। लेकिन, लंबित कांडों की संख्या जस का तस है। इसके बाद एसएसपी जयंतकांत ने यह कार्रवाई की है।

जानकारी के मुताबिक, एसएसपी ने लॉकडाउन में कांडों के निष्पादन को लेकर थानेदारों को टारगेट दिया था। लंबित कांडों की संख्या को साढ़े 16 से 10 हजार पर लाने का लक्ष्य रखा गया था। लेकिन, अनुसंधान विंग में तैनात पुलिस पदाधिकारियों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया और केस निष्पादन टारगेट के अनुसार नहीं हो सका।

संबंधित खबरें