DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंगनबाड़ी केन्द्रों को बंद रखने पर मांगा जवाब

आंगनबाड़ी केन्द्रों को बंद रखने पर मांगा जवाब

आईसीडीएस विभाग की ओर से आंगनबाड़ी केन्द्रों के संचालन का समय सुबह सात से 11 बजे है। लेकिन केन्द्र सात बजे नहीं खुलते हैं। ‘हिन्दुस्तान में ‘आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों में पोषाहार वितरण ठप शीर्षक से खबर छपने के बाद मुशहरी सदर सीडीपीओ मंजू कुमारी ने संज्ञान लिया। उन्होंने सेविकाओं से स्पष्टीकरण मांगा है।

बताया कि केन्द्र को हर हाल में सुबह सात बजे खोलने का आदेश दिया गया है। केन्द्र बंद रखने वाली सेविकाओं व जिस केन्द्र पर कमियां सामने आई हैं, उनकी की सेविकाओं से स्पष्टीकरण मांगा गया है। जवाब सही नहीं मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि 21 मई को ‘हिन्दुस्तान की टीम ने आंगनबाड़ी केन्द्रों की पड़़ताल की थी। केन्द्रों पर दो माह से राशि नहीं आने से बच्चों को भोजन नहीं दिया जा रहा था। सेविकाएं बच्चों को बिस्कुट खिला केन्द्र पर रोकने की बात कह रही थीं। वहीं, कई केन्द्र बंद मिले थे। इनमें सिकंदरपुर स्टेडियम स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र आठ, मुरब्बा फैक्ट्री के पास केन्द्र 240, गोला बांध रोड में केन्द्र 205, नई बाजार नारायण साह कॉलनी स्थित केन्द्र 215 व रामबाग रोड स्थित केन्द्र 126 बंद मिले थे। कन्हौली, माई स्थान स्थित केन्द्र 122 में एक-दूसरे सट बैठे बच्चे पसीने से तरबतर थे। छोटी कल्याणी, बीबी जानलेन स्थित केन्द्र 187 में आधा दर्जन बच्चे अंधेरे कमरे में बैठे थे। इमामगंज धोबी टोला स्थित केन्द्र 212 छोटे बरामदे में चल रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Responding to the closure of Anganwadi centers