Reporting of treasury booths and frontline liquor shops - धनबल वाले बूथ व सीमावर्ती शराब दुकानों की रिपोर्ट तलब DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धनबल वाले बूथ व सीमावर्ती शराब दुकानों की रिपोर्ट तलब

धनबल वाले बूथ व सीमावर्ती शराब दुकानों की रिपोर्ट तलब

चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की तैयारी तेज कर दी है। इस कड़ी में उसने मद्य निषेध विभाग व गृह विभाग के साथ समीक्षा बैठक भी की है। बैठक के बाद आयोग ने धनबल के इस्तेमाल वाले बूथ व सीमावर्ती राज्य की शराब दुकानदारों की सूची तलब की है। इसके अलावा राज्य के विभिन्न जिलों में अब तक जब्त की गई 14 लाख लीटर शराब को जल्द नष्ट करने का आदेश दिया है।

लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर मद्य निषेध विभाग की समीक्षा में कई बातें सामने आई हैं। आयोग ने अधिकारियों से मिली रिपोर्ट के आधार पर राज्य में अब तक जब्त शराब को एक माह में नष्ट करने का आदेश दिया है। इसके आलोक में उत्पाद आयुक्त ने सभी डीएम को कार्रवाई का निर्देश दिया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि प्रतिदिन नष्ट होने वाली शराब के संबंध में उसे रिपोर्ट भेजी जाए। साथ ही कहा है कि चुनाव को लेकर होने वाली क्रॉस बॉर्डर मीटिंग में सीमावर्ती राज्यों की शराब दुकानों की सूची के साथ उपस्थित हों। इससे उन दुकानों को शराब की होने वाली सप्लाई व उसकी खपत का ब्योरा तैयार किया जा सके। चुनाव को लेकर सीमावर्ती झारखंड, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल व नेपाल के साथ क्रॉस बॉर्डर मीटिंग होगी। इसके बाद सीमा के आसपास खुली लाइसेंसी दुकानों की दैनिक रिपोर्ट भेजी जाएगी।

संवेदनशील बूथों की पहचान कर रिपोर्ट मांगी

चुनाव आयोग ने सभी जिलों को धनबल वाले संवेदनशील बूथों की पहचान करने का निर्देश दिया है। ऐसे बूथों की पहचान पिछले चुनाव में पैसे के लेनदेन के दर्ज मामले व मिली शिकायत के आधार पर की जाएगी। आयोग ने कहा है कि इसके लिए खुफिया विभाग की रिपोर्ट का भी सहारा लिया जाएगा। ऐसे बूथों की पहचान कर उसकी सूची सौंपी जाए, ताकि ऐसे बूथों के आसपास खर्च संबंधी मामलों की निगरानी से लिए विशेष अधिकारी तैनात किए जा सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Reporting of treasury booths and frontline liquor shops