DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मुजफ्फरपुर › बिना फल की कामना के प्रभु को करें याद
मुजफ्फरपुर

बिना फल की कामना के प्रभु को करें याद

हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 07:01 PM
बिना फल की कामना के प्रभु को करें याद

औराई। उत्तम भक्त के लिए यही उचित है कि वह किसी भी फल की कामना को अपने हृदय में न रख, शुद्ध रीति से प्रभु की परिचर्या करे, जो लोग भगवान की सेवा शुद्ध रीति एवं सच्चे अंतः करण से करते हुए किसी फल की आशा रखते हैं तो वे भगवान के सेवक नहीं हैं। उक्त बातें श्री रामजानकी मंदिर सरहंचिया के परिसर में नरसिंह जयंती पर नौ दिवसीय नरसिंह जयंती मूल मंत्र अनुष्ठान के बाद स्वामी भरत शरण दास ने कही। उन्होंने कहा कि श्रीमद्भागवत में हिरण्यकश्यप के वध के पश्चात जब भक्त प्रहलाद भगवान नरसिंह के समक्ष हाथ जोड़े आल्हादित खड़े थे तो प्रभु ने उन्हें अपनी गोद में बिठाया और वर मांगने को कहा। आदि प्रसंगों पर चर्चा की गई। मौके पर परमानंद सिंह, रामरतन सिंह, महेश्वर प्रसाद सिंह, रामजी प्रसाद सिंह, राजीव नयन सिंह, दिवाकर कुमार, अनिता देवी, मोहन प्रसाद सिंह, अरुण निराला, दिनबंधु सिंह आदि भी थे।

संबंधित खबरें