ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार मुजफ्फरपुरप्रेम विवाद के बाद दहेज के लिए हुई थी रवीना की हत्या

प्रेम विवाद के बाद दहेज के लिए हुई थी रवीना की हत्या

फॉलोअप ससुराल के दरवाजे पर शव जलाने का किया प्रयास खेमाईपट्टी गांव में...

प्रेम विवाद के बाद दहेज के लिए हुई थी रवीना की हत्या
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरFri, 30 Sep 2022 01:22 AM
ऐप पर पढ़ें

खेमाईपट्टी में बुधवार की रात फंदे से लटकी मिली रवीना की लाश मामले में हत्या का आरोप लगाया गया है। गुरुवार को मृतका की भाभी सुधा देवी ने दहेज की खातिर हत्या करने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करायी है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

इधर, पोस्टमार्टम के बाद महिला का शव खेमाईपट्टी पहुंचते ही मायके वाले उसके ससुराल के दरवाजे पर ही शव जलाने का प्रयास करने लगे। इससे कुछ देर के लिए गांव में अफरातफरी मची गई। हालांकि, पुलिस के हस्तक्षेप से मामला शांत हुआ। इसके बाद शव को श्मशान घाट ले जाकर दाह संस्कार किया गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

सुधा देवी ने ससुराल वालों पर दहेज में दो लाख रुपये नहीं देने पर रवीना की हत्या करने का आरोप लगाया है। दर्ज एफआईआर में मृतका के पति प्रिंस कुमार उर्फ त्रिलोकी प्रसाद, देवी लाल प्रसाद, सुनीता देवी, दीपक कुमार और अर्जुन कुमार को नामजद किया गया है। हत्या कर साक्ष्य नष्ट करने की नीयत से शव को फंदे से लटकाने का आरोप गया है। थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। फिलहाल सभी घर छोड़कर फरार है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।

बताया गया कि प्रिंस कुमार और रवीना ने एक साल पहले ही अंतरजातीय प्रेम विवाह किया था। दोनों का घर खेमाईपट्टी गांव में ही है। बताया जा रहा है कि आरंभ में दोनों परिवार के लोग इस विवाह से खुश नहीं थे। हालांकि, धीरे-धीरे सब कुछ ठीक होने लगा था। अचानक बुधवार की देर रात को मवेशी के चारा काटने वाले कमरे में फंदे से लटका हुआ रवीना का शव मिला था।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper