DA Image
28 नवंबर, 2020|3:46|IST

अगली स्टोरी

डॉक्टरों से रंगदारी में एक को उठाया, चार टीम कर रही जांच

default image

शहर के तीन डॉक्टरों और पैथोलॉजी सेंटर के संचालक से रंगदारी मांगने में पुलिस ने शनिवार को एक शराब धंधेबाज को पकड़ा है। उससे सदर थाने पर गहन पूछताछ की जा रही है। पुलिस को शक है कि इस मामले का तार मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल में बंद अपराधियों से जुड़ा है। संभावना है कि देर रात पुलिस टीम पूछताछ के लिए जेल जा सकती है।

वहीं एसएसपी जयंतकांत ने अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए चार टीम बनाई है। इसमें ब्रह्मपुरा व सदर पुलिस के अलावा मुख्यालय के अफसरों को भी लगाया गया है। सर्विलांस सेल व डीआईयू पहले से ही काम रही है। इस आधार पर भगवानपुर से शराब धंधे से जुड़े युवक को पुलिस ने दबोचा है। वह रंगदारी के लिए इस्तेमाल किए गए नंबर के संपर्क में था। पुलिस की सीडीआर से मिली जानकारी के मुताबिक, उसने उक्त नंबर पर कॉल कर कई बार बातचीत भी की थी। सिटी एसपी राजेश कुमार ने बताया कि एक को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस को इस मामले में सुराग मिला है। इस आधार पर कार्रवाई जारी है। अगले 48 घंटे में पूरे मामले का खुलासा कर लिया जाएगा।

एटीएम फ्रॉड गिरोह के कब्जे वाले खाते में मंगाए थे पैसे :

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, अपराधियों ने एक डॉक्टर से 10 हजार रुपये वसूले थे। अपराधियों ने एटीएम फ्रॉड गिरोह के कब्जे वाले खाते में पैसे मंगवाए थे। खाते में पैसे आने के तुरंत बाद निकासी कर ली गई थी। बता दें कि शहर के तीन डॉक्टर व एक पैथोलॉजी सेंटर के संचालक से 52 लाख रुपये रंगदारी मांगी गई थी। इसके लिए एक ही नंबर का इस्तेमाल किया गया था। डॉ. चंदन कुमार, डॉ. चंद्रभूषण कुमार और डॉ. प्रणव शर्मा ने व पैथोलॉजी सेंटर संचालक कुमार ललित ने एफआईआर कराई थी। सभी से ‘ठाकुर नाम से रंगदारी मांगी गई। थी। इससे पहले करजा के डॉ. आसिफ सिद्दीकी से रंगदारी मांगी गई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Raised one in extortion from doctors four teams are investigating