Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार मुजफ्फरपुरसंक्रमण के लिहाज से संवेदनशील जंक्शन पर प्रोटोकॉल का पालन नहीं

संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील जंक्शन पर प्रोटोकॉल का पालन नहीं

हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरNewswrap
Mon, 29 Nov 2021 03:32 AM
संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील जंक्शन पर प्रोटोकॉल का पालन नहीं

कोरोना के नए वेरिएंट की दहशत के बीच भीड़भाड़ वाली जगहों पर मास्क, जांच, सोशल डिस्टेसिंग व अन्य प्रोटोकॉल के प्रति लापरवाही जारी है। कोरोना संक्रमण के लिहाज से अति संवेदनशील रेलवे जंक्शन पर भी प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो पा रहा है। त्योहारी सीजन खत्म होने से जंक्शन पर कोरोना की जांच में लगातार गिरावट आ रही है। कदम-कदम पर कोरोना की गाइडलाइन टूटने से संक्रमण की आशंका बढ़ रही है।

मुंबई, दिल्ली, चेन्नई व कोलकाता समेत अन्य प्रमुख शहरों से लौटने वाले कुल यात्रियों में महज दस प्रतिशत की ही कोरोना जांच हो पा रही है। वहीं ट्रेनों में सीट व बर्थ के अनुसार यात्रियों के बैठने की अनुमति के बावजूद बड़ी संख्या में बिना टिकट व वेटिंग टिकट पर यात्रा किए जाने से सोशल डिस्टेसिंग का उल्लंघन हो रहा है। रेलवे द्वारा रियायत दी जाने व जांच में छूट से यात्रियों द्वारा मास्क के उपयोग में कमी आ रही है। महज पांच प्रतिशत यात्रियों द्वारा यात्रा के दौरान ट्रेनों व जंक्शन परिसर में मास्क का उपयोग किया जा रहा है।

जंक्शन पर जांच की रफ्तार में आयी कमी :

जंक्शन पर कारोना जांच की रफ्तार में कमी आने लगी है। त्योहारों के दौरान यात्रियों की कोरोना जांच के लिए जंक्शन पर 14 काउंटर थे। अब काउंटर की संख्या घटकर पांच हो गई है। वहीं शाम से लेकर सुबह तक महज तीन काउंटर पर जांच हो पा रही है। इस दौरान तीन प्रवेश व निकास द्वारों पर जांच के काउंटर नहीं होने से मुंबई आदि महागरों से लौटने वाले यात्रियों की कोरोना जांच नहीं हो पा रही है। कोविड 19 के सुपरवाइजर मनोज कुमार ने बताया कि पुलिस द्वारा सहयोग नहीं मिलने से बड़ी संख्या में यात्रियों की जांच नहीं हो पा रही है। त्योहारों के दौरान जंक्शन पर प्रतियुक्त जवानों को वापस बुला लिया गया है। इसके कारण जांच की रफ्तार में कमी आयी है।

epaper

संबंधित खबरें