ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मुजफ्फरपुर39 साल पुराने यूटीएस भवन को तोड़ने की प्रक्रिया शुरू

39 साल पुराने यूटीएस भवन को तोड़ने की प्रक्रिया शुरू

- वर्ल्ड क्लास जंक्शन निर्माण को लेकर तोड़ा जा रहा भवन - अभी जंक्शन

39 साल पुराने यूटीएस भवन को तोड़ने की प्रक्रिया शुरू
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरSat, 24 Feb 2024 01:45 AM
ऐप पर पढ़ें

मुजफ्फरपुर, वरीय संवाददाता।
पूमरे के तत्कालीन जीएम अनिल कुमार खंडेलवाल के निरीक्षण के बाद वर्ल्ड क्लास जंक्शन निर्माण में तेजी आयी है। शुक्रवार को रेलवे ने यूटीएस भवन पर लगे सोलर प्लेट को उतार लिया। इसके बाद निर्माण एजेंसी ने यूटीएस भवन को ऊपरी हिस्से से तोड़ना शुरू कर दिया है।

25 नवंबर 1985 को पूमरे के तत्कालीन महाप्रबंधक योगेंद्र बिहारी लाल माथुर ने नये स्टेशन भवन के रूप में इसका उद्घाटन किया था। इसमें यूटीएस हॉल के अलावा मुसाफिर खाना, क्लॉक रूम, छह स्टॉल, गीता प्रेस की दुकान, डेयरी बूथ, पे एंड पेड शौचालय, एटीएम और पर्यटन विभाग का एक कार्यालय होता था। तत्काल रेलवे ने स्टॉल और दुकानों को प्लेटफॉर्म पर शिफ्ट कर दिया है, जबकि पर्यटन विभाग का कार्यालय जंक्शन से अस्थायी तौर पर हटा दिया गया है। इसके अतिरिक्त स्टैटिक टीटीई कार्यालय सहित छह छोटे-छोटे कार्यालयों को भी प्लेटफॉर्म एक पर स्थित पार्सल कार्यालय के पास शिफ्ट कर दिया गया है। बता दें कि जंक्शन के 32 पुराने भवनों को तोड़कर 442 करोड़ की लागत से अमृत भारत योजना के अंतर्गत वर्ल्ड क्लास जंक्शन के रूप में विकसित करना है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें