ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मुजफ्फरपुरपांच व दस रुपये का पोस्टल ऑर्डर मार्केट से गायब, भटक रहे लोग

पांच व दस रुपये का पोस्टल ऑर्डर मार्केट से गायब, भटक रहे लोग

डाकघर में पिछले कुछ दिनों से पोस्टल आर्डर नहीं मिल रहे हैं। इसको लेकर लोग भटक रहे हैं। डाक घर में इसको लेने के लिए लोग लाइन लगते हैं, लेकिन काउंटर...

पांच व दस रुपये का पोस्टल ऑर्डर मार्केट से गायब, भटक रहे लोग
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरSun, 25 Feb 2024 12:45 AM
ऐप पर पढ़ें

मुजफ्फरपुर, वरीय संवाददाता।
डाकघर में पिछले कुछ दिनों से पोस्टल आर्डर नहीं मिल रहे हैं। इसको लेकर लोग भटक रहे हैं। डाक घर में इसको लेने के लिए लोग लाइन लगते हैं, लेकिन काउंटर खुलने के बाद बताया जाता है कि पांच और दस रुपये वाला पोस्टल आर्डर उपलब्ध नहीं हैं। इस पर कई लोग मायूस होकर लौट जाते हैं तो कई 20 रुपये का पोस्टल ऑर्डर लेकर अपना काम करते हैं।

जिले में रोजाना डेढ़ लाख रुपये से अधिक का पोस्टल आर्डर बिकता है। इसका इस्तेमाल भारतीय मुद्रा के रूप में होता है। सबसे अधिक मांग 10 रुपये के पोस्टल ऑर्डर की रहती है। लेकिन, बीते कई दिनों से यह किसी भी डाकघर में नहीं मिल रहा है। इसके अभाव में आरटीआई कार्यकर्ताओं के अलावा अग्निवीर, रेलवे व अन्य विभागों में नौकरी से संबंधित आवेदन करने में युवाओं को परेशानी आ रही है। कंपनीबाग स्थित डाकघर में केवल दो, 20, 50 और 100 रुपये के पोस्टल ऑर्डर उपलब्ध है। इसकी मांग अमूमन कम ही होती है।

प्रधान डाकघर के पोस्ट मास्टर गिरिश कुमार दास ने बताया कि वर्तमान में पांच और दस का पोस्टल ऑर्डर उपलब्ध नहीं है। पटना स्थित पोस्टल स्टोर को डिमांड भेजा गया है। वहां से आने के बाद इसे ग्राहकों को उपलब्ध कराया जाएगा। हालांकि, विभागीय पदाधिकारी या अधिकारी यह बताने में असमर्थ हैं कि किस वजह से पांच और 10 का पोस्टल ऑर्डर नहीं आ रहा है। विभागीय सूत्रों की माने तो पोस्टल आर्डर की छपाई टेंडर के माध्यम से होती है। छपाई में विलंब होने के कारण पोस्टल आर्डर नहीं आ पा रहा है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें