DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लापरवाह अफसरों-कर्मियों पर भड़के डीएम, एफआईआर का आदेश

कांटी हाईस्कूल स्थित स्वामी विवेकानंद स्टेडियम में बुधवार को प्रशासन आपके द्वार कार्यक्रम अफरातफरी के बीच संपन्न हुआ। बारिश के कारण कार्यक्रम जल्द समाप्त कर दिया गया। वंचितों की मांग पर डीएम कार्यक्रम में दुबारा पहुंचे और लोगों की शिकायतें सुनीं। मौके पर ही संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवेदनों के त्वरित निष्पादन का निर्देश दिया। आवास योजना व अंचल के खिलाफ अधिक शिकायतें मिलीं। इसपर अधिकारियों व कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाते हुए कार्रवाई का निर्देश दिया।

दरअसल, शिकायत सुनने के दौरान बूंदाबांदी तेज हो गई। इसके बाद डीएम ने कार्यक्रम समाप्ति की घोषणा कर दी। फिर वे स्टेडियम के बगल में स्थित सामुदायिक भवन में अधिकारियों के साथ चले गए। इसी दौरान वंचित आवेदक बेचैन हो गये। जनप्रतिनिधियों व लोगों के आग्रह पर डीएम फिर से पंडाल में गए। वहां बारीबारी से लोगों की शिकायतों को सुना। करीब आधे घंटे तक लोगों के आवेदनों के निष्पादन के बाद कार्यक्रम समाप्त हुआ। कार्यक्रम में सीओ व राजस्व कर्मचारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत पर डीएम ने सीओ को कई बार फटकार लगाई। लगान रसीद काटने में 200 रुपये लेने की शिकायत पर नगर पंचायत के राजस्व कर्मचारी के खिलाफ आवेदन लेकर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया।

पहली बार डीएम के कार्यक्रम समापन की घोषणा के बाद कई अधिकारी वहां से निकल गए। बाद में दुबारा कार्यक्रम शुरू हुआ तो बिजली समेत अन्य विभाग के अधिकारियों की खोज होने लगी। कार्यक्रम में श्रम संसाधन विभाग के सचिव, प्रमुख मुकेश पांडेय, नगर अध्यक्ष गजेन्द्र पासवान, उपाध्यक्ष महेश प्रसाद साह, सौरभ कुमार साहेब, शशि ठाकुर व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

बासगीत पर्चा के लिए नारेबाजी

विश्वनाथपुर में रास्ता व भूमिहीनों को बासगीत पर्चा देने की मांग को लेकर युवा संघर्ष शक्ति के कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की। इसपर डीएम ने डीसीएलआर को 15 दिन में टाइटल सूट दायर करने का निर्देश दिया। हाईस्कूल से लेकर नगर पंचायत के वार्ड 10 व 11 होते हुए बहादुरपुर घाट तक जाने वाली जर्जर सड़क के निर्माण की मांग भी दर्जनों ग्रामीणों ने प्रमुखता से उठाई। आश्रित प्रमाण पत्र नहीं मिलने के कारण कई महिलाओं ने कामगार, शिल्पकार सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ नहीं मिलने की शिकायत डीएम से की। इसपर डीएम ने पारिवारिक प्रमाणपत्र निर्गत करने का निर्देश सीओ को दिया।

23 फरवरी को कार्रवाई का जायजा लेंगे डीएम :

डीएम ने कहा कि लगभग 90 प्रतिशत आवेदन नगर पंचायत क्षेत्र से मिले हैं। आवास योजना का कार्यादेश नहीं मिलने, महीनों से दूसरी किस्त व पेंशन का भुगतान नहीं होने, आवास योजना में लाभुकों से वसूली, शौचालय व सड़क निर्माण, नल-जल योजना में गड़बड़ी की सर्वाधिक शिकायत मिली। इसपर डीएम ने कार्यपालक पदाधिकारी को एक महीने में सभी मामलों का निष्पादन करने का आदेश दिया। डीएम ने कहा कि अगले 23 फरवरी को नगर पंचायत कार्यालय में जनता दरबार लगाकर एक महीने में हुई कार्रवाई का जायजा लेंगे।

भोजन के लिए हंगामा

प्रशासन आपके द्वार कार्यक्रम के दौरान भोजन को लेकर हंगामा हुआ। नगर पंचायत के कर्मियों ने भोजन नहीं मिलने के बाद सामुदायिक भवन स्थित भोजन स्थल पर हंगामा किया। कर्मियों ने भोजन प्रभारी सह बीएओ अरविन्द कुमार पर अपमानित करने का आरोप लगाया। दूसरी ओर बीएओ का कहना था कि भोजन की सीमित व्यवस्था थी। कुछ बाहरी लोगों ने हंगामा किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Order of FIR FIR on the caretaker officers and employees