Onion became costlier by Rs 30 in three days notout at 120 - तीन दिनों में 30 रुपये और महंगा हुआ प्याज, 120 पर ‘नॉटआउट DA Image
14 दिसंबर, 2019|5:26|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन दिनों में 30 रुपये और महंगा हुआ प्याज, 120 पर ‘नॉटआउट

default image

प्याज बीते तीन दिनों में 30 रुपये और महंगा हो गया। खुदरा बाजार में बुधवार को प्याज प्रति किलो 120 रुपये पर ‘नॉटआउट रहा। बढ़ती कीमत के कारण आमलोगों की रसोई से प्याज दूर होते जा रहा है। सब्जी खरीदारी करने के दौरान लोग प्याज भले ही न खरीदें लेकिन, इसकी कीमत जरूर पूछ ले रहे हैं। खुदरा व थोक भाव में अंतर है। काफी मुनाफा लेकर खुदरा में प्याज बिक्रेता बेच रहे हैं। लक्ष्मी चौक पर बुधवार को 550 रुपये में पांच किलो प्याज मिल रहा था, जबकि किलो पर 120 रुपये कीमत वसूली जा रही थी।

आलू-प्याज व्यवसायी संघ के अध्यक्ष विजय चौधरी ने बताया कि पहले मंडी में 10 से 12 ट्रक प्याज की आवक होती थी। वर्तमान में स्थिति काफी खराब है। कई दिनों बाद बुधवार को चार ट्रक प्याज मंडी में आया है। दो ट्रक अलवर से व दो ट्रक नासिक से प्याज आया है। महंगाई की वजह से व्यवसायी इकठ्ठे प्याज मंगाने को मजबूर हैं। एक ट्रक पर तीन सौ क्विंटल प्याज लोड रहता है, जिसकी कीमत करीब 27 लाख रुपये चुकानी पड़ रही है। नासिक वाले प्याज की कीमत नौ हजार तो अलवर वाले की कीमत 85 सौ से नौ हजार के बीच है। 10 दिनों में नासिक से प्याज की नई फसल आने की उम्मीद जतायी गई है। इससे भाव में भी कमी होने की बात कही गई है। मनियारी के शिक्षक रामाधार ठाकुर ने बताया कि अचार और घी की तरह प्याज को घरों में बचाकर रखना पड़ रहा है।

बिस्कोमान के परमार्शी एसएन सिंह ने बताया कि सरकार बिहार में बिस्कोमान की ओर से 35 रुपये किलो के भाव से लोगों को प्याज दे रहा था। बिहार में सोनपुर मेला, जमुई, आरा, बिहारशरीफ में वितरण भी हुआ। सुरक्षा नहीं मिलने से फिलहाल वितरण पर रोक लगा दी गई है। मुजफ्फरपुर के लोगों ने भी वितरण कराने की मांग की थी, लेकिन स्वीकृति नहीं मिल सकी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Onion became costlier by Rs 30 in three days notout at 120