DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सल प्रभावित व संवेदनशील बूथ अर्द्धसैनिक बल के जिम्मे

नक्सल प्रभावित व संवेदनशील बूथ अर्द्धसैनिक बल के जिम्मे

छठे चरण में वैशाली, शिवहर और पश्चिम चंपारण लोकसभा सीट के लिए होनेवाले चुनाव के मद्देनजर गुरुवार को जोनल आईजी ने सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। करीब एक दर्जन से अधिक बिंदुओं पर संबंधित जिलों के पुलिस अधिकारी और पदाधिकारियों के साथ विचार-विर्मश किया। पूर्व में हुई कार्रवाई की समीक्षा की। साथ ही कमियों को अविलंब दूर करने को लेकर निर्देश भी दिया।

समीक्षा बैठक के बाद जोनल आईजी नैयर हसनैन खान ने बताया कि आगामी 12 मई को वैशाली, शिवहर व पश्चिम चंपारण लोकसभा सीट के लिए मतदान होना है। संबंधित जिलों की पुलिस ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं। जिला बल के अलावा दूसरे जिलों से आए पुलिसकर्मी और पारा मिलिट्री के जवान भी तैनाती होंगे। नक्सल प्रभावित और संवेदनशील बूथ की सुरक्षा पूरी तरह से पारा मिलिट्री के हवाले होगी। पुलिस स्लम बस्ती में भी पेट्रोलिंग करेगी ताकि वोटरों को कोई दबंग उनके मताधिकार से वंचित नहीं कर सके। बैठक में मुजफ्फरपुर के एसएसपी मनोज कुमार, वैशाली के एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो, सीतामढ़ी के एसपी अनिल कुमार और शिवहर एसपी संतोष कुमार मौजूद थे।

पुलिस-दंडाधिकारी का कलस्टर होगा तैयार :

शांतिपूर्ण मतदान के लिए एसएसपी/एसपी ने मतदान के लिए क्यूआरटी का गठन किया है। इसके अलावा पुलिस और दंडाधिकारियों का एक क्लस्टर तैयार किया जाएगा जो सीधे घटनास्थल और बूथ पर पहुंचकर मामले से निबटेगा। जोनल आईजी ने कहा कि सभी बूथों का पुलिस पदाधिकारी ने भौतिक सत्यापन कर लिया है।

बॉर्डर चेक प्वांइट पर लगे सीसीटीवी :

जोनल आईजी ने कहा कि संबंधित जिलों की सीमा और चेक प्वाइंट पर सीसीटीवी लगाए गए हैं। इसके अलावा श्वान दस्ते को भी तैनात किया गया है। दूसरे राज्यों की पुलिस से तालमेल बैठाने को लेकर आधिकारिक स्तर पर बैठक हो चुकी है। मुजफ्फरपुर और वैशाली के बाद उत्तरप्रदेश में भी चुनाव होना है। इसमें जोनल पुलिस भी सहयोग करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Naxal affected and sensitive booths are responsible for paramilitary forces