Ladies who are being kept in the monk house - भिक्षुक गृह में रखी जा रहीं भटकी महिलाएं DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भिक्षुक गृह में रखी जा रहीं भटकी महिलाएं

भिक्षुक गृह में रखी जा रहीं भटकी महिलाएं

बालिका गृहकांड उजागर होने के बाद जिले में भूली-भटकी बच्चियों व महिलाओं को रहने वाले सभी आश्रय गृह बंद हो गए हैं। अब जहां ऐसी बच्चियों के मिलने पर उन्हें दूसरे जिले में भेज दिया जा रहा है। वहीं, भूली-भटकी व बेसहारा महिलाओं को रामदयालु स्थित शांति कुटीर में रखा दिया जा रहा है। भिक्षुक के साथ इन्हें यहां रखने पर संस्थान के संचालक व कर्मचारी को परेशानी उठानी पड़ रही है। संस्थान ने विभाग को इस मामले से अवगत कराया है।

स्टेट सोसायटी फॉर अल्ट्रा पुअर एंड सोशल वेलफेयर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी राजकुमार ने डीएम व एसएसपी को भिक्षुक गृह में केवल भिक्षुकों को रखने को पत्र लिखा है। वर्तमान में इस संस्था में आवासित 30 महिलाओं में से छह महिलाएं ऐसी हैं जो भूली-भटकी और बेसहारा हैं। दूसरे जिले में चल रहे आश्रय गृह भेजने की जगह पुलिस इन्हें यहां लेकर आई। इन महिलाओं की सुरक्षा के प्रशासनिक स्तर से कोई इंतजाम यहां नहीं किए गए हैं।

13 माह से संस्थान को नहीं मिली राशि

पिछले 13 माह से भोजन, इलाज, कपड़ा के लिए संस्थान को कोई राशि नहीं दी गई है। संस्था अपने स्तर से इन महिलाओं का भरण-पोषण व चिकित्सीय व्यवस्था कर रही है। इससे संस्था की आर्थिक स्थिति भी कमजोर हो गई है। विभाग को संचालक ने सारे मामले से अवगत कराया है। संचालक उज्जवल कुमार ने बताया कि अब तक वह अपने स्तर से 20 से 30 लाख रुपये खर्च कर चुके हैं। दो लाख बिजली का बिल आ गया है कनेक्शन काटने की चेतावनी मिल रही है। पांच लाख किराने का उधार है। विभाग को कई बार पत्र लिखा गया, लेकिन अब तक राशि नहीं मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ladies who are being kept in the monk house