ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मुजफ्फरपुरहत्या के 20 साल पुराने मामले में कोर्ट में नहीं आ रहे आईओ

हत्या के 20 साल पुराने मामले में कोर्ट में नहीं आ रहे आईओ

- एडीजे-11 ने पुलिस लाइन के सार्जेंट मेजर से मांगा आवासीय पता - कोर्ट

हत्या के 20 साल पुराने मामले में कोर्ट में नहीं आ रहे आईओ
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरThu, 22 Feb 2024 01:45 AM
ऐप पर पढ़ें

मुजफ्फरपुर, वरीय संवाददाता।
कोर्ट में जांच अधिकारी के हाजिर नहीं होने से 20 साल पुराना केस लंबित है। जांच अधिकारी अशोक कुमार कोर्ट में हाजिर नहीं हो रहे हैं। ऐसे में अब एडीजे-11 के कोर्ट ने पुलिस लाइन के सार्जेंट मेजर से दारोगा अशोक कुमार का आवासीय पता तलब किया है। इसके लिए एसएसपी के माध्यम से सार्जेंट मेजर को निर्देशित किया गया है। इससे पूर्व दारोगा को अदालत में हाजिर करने के लिए कोर्ट की ओर से पुलिस आईजी और डीजीपी को भी पत्र लिखकर निर्देशित किया जा चुका है।

मामले में दारोगा को छोड़कर सभी दस गवाहों का कोर्ट में बयान दर्ज हो चुका है। इसमें दो डॉक्टर भी शामिल हैं। एडीजे 11 की अदालत से गिरफ्तारी वारंट जारी हो चुका है। इसके बाद भी दारोगा कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। अपर लोक अभियोजक विनोद अग्रवाल ने बताया कि दारोगा सह जांच अधिकारी अशोक कुमार की हाजिरी नहीं होने से मामला लंबित है। आरोपितों को सजा दिलाने के लिए पिस्तौल, खोखा व बाइक के साथ दारोगा की अदालत में हाजिरी जरूरी है। सार्जेंट मेजर के पास एक डायरी होती है, जिसमें पुलिस पदाधिकारी और कर्मियों का आवासीय पता होता है। आवासीय पता मिलने के बाद कोर्ट री वारंट भी जारी कर सकता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें