DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुष्कर्म के आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर मोतीपुर में बवाल-आगजनी

दुष्कर्म के आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर मोतीपुर में बवाल-आगजनी

दुष्कर्म के आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर मोतीपुर प्रखंड की दो पंचायतों में बुधवार को उपद्रवियों ने भारी बवाल किया। आरोपित पक्ष के कई लोगों पर हमला कर दिया। इसमें सात लोग चोटिल हो गए। उपद्रवियों ने आरोपित की झोपड़ी फूंक दी। साथ ही एक धार्मिक स्थल पर भी तोड़फोड़ व रोड़ेबाजी की। सूचना पर मोतीपुर, कथैया, बरुराज समेत आधा दर्जन थाने की पुलिस पहुंची। उपद्रवियों को काबू में करने के लिए एसएसबी और क्यूआरटी भी बुलाई गई। पुलिस ने उपद्रवियों पर लाठी चटका खदेड़ दिया। इसमें भी कई लोगों को चोटें आई हैं। 16 महिला और पुरुष उपद्रवियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

डीएम मो. सोहैल, एसएसपी हरप्रीत कौर व जनप्रतिनिधियों के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ। फिलहाल गांव में पुलिस कैंप कर रही है। सुबह 8 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक दुष्कर्म पीड़िता के ससुराल व मायके से जुड़ीं दोनों पंचायतों में बवाल चला। दोनों पंचायतों में धारा 144 लागू कर दी गई।

जवानों पर फायरिंग व लूटपाट का आरोप :

विधि व्यवस्था नियंत्रित करने को लेकर एसएसपी के आदेश पर एसएसबी और क्यूआरटी ने दोनों पंचायतों में फ्लैग मार्च किया। एसएसबी व क्यूआरटी ने फ्लैग मार्च के दौरान उपद्रवियों को हड़काया और सख्ती भी बरती। इधर, पीड़िता के मायके से जुड़ी पंचायत के मुखिया ने जवानों पर घर में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है। इसके अलावा कमरे से 50 हजार लूटने का भी आरोप लगाया है। वहीं, मुखिया समर्थकों ने एसएसबी के जवानों पर फायरिंग करने का भी आरोप लगाया है। साथ ही पुलिस को एक खोखा भी सौंपा है। हालांकि, एसएसबी के अधिकारी ने इस घटना से इंकार किया है।

एनएच 28 किया जाम, गाड़ियों में तोड़फोड़:

आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर गांव में बवाल के बाद लोग एनएच पर उतर गए। एनएच 28 पर बांस-बल्ला व आगजनी कर जाम कर दिया। दोपहर करीब एक बजे से लेकर दो बजे तक एनएच जाम रहा। इस दौरान कई गाड़ियों के शीशे भी क्षतिग्रस्त कर दिए गए। राहगीरों के साथ दुर्व्यवहार किया। डीएसपी पश्चिमी के आश्वासन पर आक्रोशित लोगों ने सड़क से जाम हटाया और फिर यातायात चालू हो सका।

शांति बनाए रखने को डीएम-एसएसपी ने की अपील :

बवाल को देखते हुए डीएम-एसएसपी, बरुराज विधायक नंद कुमार राय व अन्य जनप्रतिनिधि पहुंचे। घंटों मशक्कत के बाद पुलिस ने उपद्रवियों को नियंत्रित किया। डीएम व एसएसपी ने ग्रामीणों से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही उपद्रवियों को चेतावनी दी। पुलिस के कई अधिकारी व मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति संवेदनशील स्थलों पर की गई है।

क्या है मामला :

मोतीपुर इलाके में रविवार की रात एक महिला से दुष्कर्म हुआ था। इसे दो दिनों तक स्थानीय स्तर पर दबाकर रखा गया। पीड़िता ने मंगलवार को मोतीपुर थाने में एफआईआर कराई थी। घटना की जानकारी होने के बाद दो पक्षों में तनाव हो गया था। उस वक्त पुलिस अधिकारियों के आश्वासन के बावजूद आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। इसके बाद बुधवार की सुबह पीड़िता के पक्ष में गुस्साए लोगों ने बवाल करना शुरू कर दिया।

स्थिति नियंत्रण में है। संवेदनशील जगहों पर पुलिस अधिकारी व मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जो भी तनाव बढ़ाने के जिम्मेवार हैं, पुलिस उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। दुष्कर्म के आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की विशेष टीम छापेमारी कर रही है। फरार रहने के क्रम में आरोपित के घर की कुर्की जब्ती कार्रवाई की जाएगी।

-हरप्रीत कौर, एसएसपी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If there is no arrest of the accused of rape, the fire-fighting in Motipur