DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शादी के 17 वर्ष बाद चार बच्चों के जन्म से परिवार में खुशी

मोतीपुर प्रखंड के अंजनाकोट गांव में रविवार को रेणु देवी ने चार बच्चे को जन्म दी है। इनमें तीन लड़की व एक लड़का है। प्रसव घर पर ही हुआ है। रुपये के अभाव में निजी अस्पताल से रेणु लौटकर घर आ गई थी। चारों नवजात स्वस्थ हैं।

महिला को पहले से एक पांच वर्ष की लड़की है। प्रत्येक बच्चे का वजन 2 किलो बताया जा रहा है। मंसुरपुर गांव के रमेश राम के घर एक साथ तीन बेटी व एक पुत्र के आगमन से सभी खुश हैं। रमेश दूसरे प्रदेश में रहकर मजदूरी करता है। फिलहाल रेणु अपने मायके में है।

परिजनों ने बताया की 2002 में रेणु की शादी हुई थी। शादी के 11 वर्ष बाद उसे एक पुत्री हुई। उसके बाद उसका यह दूसरा प्रसव है। रेणु के मायके वालों ने बताया कि शनिवार को रेणु को प्रसव पीड़ा होने पर मोतीपुर के एक निजी नर्सिंग होम में ले गए थे। वहां डॉक्टर ने ऑपरेशन की सलाह दी थी। नर्सिग होम संचालक ने फीस के रूप में 70 हजार रुपये जमा करने को कहा था। रुपये की व्यवस्था नहीं होने के अभाव में रेणु को घर वापस ले आई। घर आने के साथ ही उसे प्रसव पीड़ा होने लगा। जब तक सरकारी अस्पातल ले जाने के लिए सवारी ठीक करने लते रेणु ने एक बच्चे को जन्म दी। गांव की दाई की देखरेख में दो घंटे में रेणु ने तीन पुत्री व एक पुत्र को जन्म दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Happiness in the family from the birth of four children after 17 years of marriage