DA Image
31 अक्तूबर, 2020|3:21|IST

अगली स्टोरी

शराबबंदी को प्रभावी बनाने के लिए हर जिले में बनेगा छापामार दल

default image

चुनाव में सरकार ने शराबबंदी को प्रभावी बनाने के लिए हर जिले में आईजी, डीआईजी, डीएम व एसपी के नियंत्रण में छापामार दल गठित करने का आदेश दिया है। हर आधे घंटे में कम से कम एक बड़े वाहन की सघन जांच कर रिपोर्ट देने के लिए कहा है। इसके अलावा शराब बरामदगी पर संबंधित थानाध्यक्ष व चौकीदार को जिम्मेवार मानते हुए कार्रवाई की चेतावनी दी है। चार दिन पहले मुजफ्फरपुर में चुनाव आयोग ने चुनाव तैयारी की समीक्षा में शराब की उपलब्धता को लेकर कड़ी टिप्पणी की थी।

अब इस संबंध में गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने कड़ा आदेश जारी किया है। कहा है कि सामान्य चेकपोस्ट के अलावा चुनाव को लेकर बनने वाले चेकपोस्ट पर भी शराब की जांच की जाएगी। प्रत्येक चेकपोस्ट पर हर आधे घंटे में कम से कम एक बड़े वाहन की सघन जांच की जाए और इसकी रिपोर्ट मुख्यालय को भेजी जाए। हर जिले में जिलास्तर पर एक छापेमार दल गठित करने का आदेश भी दिया है। यह दल उत्पाद विभाग की बजाय आईजी, डीआईजी, डीएम एसपी के नियंत्रण में काम करेंगे। दल अधिकारियों को मिलने वाली गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करेगी और इसकी गतिविधि में उत्पादन विभाग की कोई भूमिका नहीं होगी। अपर मुख्य सचिव ने यह भी आदेश दिया है कि यदि कहीं शराब पकड़ी जाती है तो इसके लिए संबंधित थानाध्यक्ष को जिम्मेवार माना जाएगा। उस इलाके के चौकीदार पर भी कार्रवाई की जाएगी। शराब बरामदगी को उनकी लापरवाही या मिलीभगत मानते हुए कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Guerrilla teams to be formed in every district to make prohibition effective