greek medicines will soon be available from government hospitals - सरकारी अस्पतालों से जल्द मिलेंगी यूनानी दवाएं DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी अस्पतालों से जल्द मिलेंगी यूनानी दवाएं

सरकारी अस्पतालों से जल्द मिलेंगी यूनानी दवाएं

जिले के सरकारी अस्पतालों में एक लंबे समय अंतराल के बाद यूनानी दवाएं मिलेंगी। कई पीएचसी-एपीएचसी में यूनानी डॉक्टर तैनात हैं, लेकिन मरीजों को इस चिकित्सा पद्धति के अनुसार तैयार दवाएं नहीं मिल रहीं थीं। अब दवा खरीद का फैसला हो गया है। यूनानी के साथ आयुर्वेद, होम्योपैथ की दवा खरीद मद में भी स्वास्थ्य विभाग ने राशि आवंटित किया है।

आयुष डॉक्टरों की संख्या व ओपीडी में मरीजों की संख्या के अनुसार सरकार ने यूनानी व आयुर्वेद के लिए प्रति यूनिट दो-दो लाख रुपये का आवंटन दिया है। यह राशि सभी 16 पीएचसी के लिए है, जहां आयुष डॉक्टर तैनात हैं। जिले में 72 आयुष डॉक्टर हैं। इसमें यूनानी के 12, 24 होम्योपैथ के व 36 आयुर्वेद के हैं। जिला देसी चिकित्सा विभाग की ओर से तीनों पद्धतियों की दवा उपलब्ध कराने के लिए कहा गया था। इसके बाद राज्य स्वास्थ्य समिति ने फरवरी में हुई बैठक के बाद इस बारे में अपनी सहमति दी। आयुष चिकित्सा पद्धति से इलाज कराने वाले मरीजों का अलग रिकार्ड रखा जाएगा। अब तक केवल होम्योपैथी, वह भी केवल सदर अस्पताल के ओपीडी में आए मरीजों की संख्या की सूचना दी जाती थी। आयुष डॉक्टरों के आगे ओपीडी में इलाज करने वाले मरीजों की संख्या केवल रिकार्ड में रहता था। नए फैसले के अनुसार तीनों देसी चिकित्सा पद्धति से हुए इलाज की अलग रिपोर्ट रखी जाएगी। आवंटन आने के बाद मार्च में कुछ आयुर्वेदिक दवाओं की खरीदारी भी हुई है।

आयुष चिकित्सा पद्धति के लिए दवा मद में जो राशि आयी है उसके दिशा निर्देश पर खरीदारी के लिए बीएमआइसीएल को ऑर्डर दिया जाएगा। इसके लिए देसी चिकित्सा अधिकारी के साथ समीक्षा होगी। सभी पीएचसी प्रभारियों को आयुष मद में दवा के लिए ऑर्डर देने को कहा गया है। उनका ऑर्डर आते ही खरीदारी की निर्धारित प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। डॉ. एसपी सिंह, सीएस

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:greek medicines will soon be available from government hospitals