DA Image
22 जनवरी, 2021|5:19|IST

अगली स्टोरी

मुजफ्फरपुर में पूर्व मेयर समीर कुमार सहित दो को एके 47 से भूना

मुजफ्फरपुर में पूर्व मेयर समीर कुमार सहित दो को एके 47 से भूना

मुजफ्फरपुर के नगर थाना के बनारस बैंक चौक स्थित अग्निशमन कार्यालय व चंदवारा शिक्षण प्रशिक्षण स्कूल के मध्य बेखौफ अपराधियों ने पूर्व मेयर समीर कुमार को एके 47 से भून दिया। वारदात रविवार शाम सात बजे की है। बाइक सवार अपराधियों ने चंदवारा ट्रेनिंग कॉलेज से आगे बढ़ने पर अग्निशमन कार्यालय से चंद कदम पहले पूर्व मेयर समीर कुमार की कार को घेरकर सामने से अंधाधुंध गोलियां बरसाई।

शातिर अपराधियों की गोली से मौके पर ही पूर्व मेयर समीर कुमार व उनके ड्राइवर रोहित कुमार की मौत हो गई। इसके बाद हथियार लहराते बाइक सवार अपराधी भाग निकले। समीर कुमार लकड़ीढ़ाई की तरफ से बनारस बैंक चौक की तरफ आ रहे थे। घटना के पीछे प्रॉपर्टी डीलिंग व पुरानी अदावत की बात बताई जा रही है। देर रात एसआईटी ने आधा दर्जन संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाया।घटना की सूचना पर आईजी सुनील कुमार, एसएसपी हरप्रीत कौर, टाउन डीएसपी मुकुल कुमार रंजन के साथ कई थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। टाउन डीएसपी ने पूर्व मेयर समीर कुमार की हत्या की पुष्टि करते हुए बताया कि वारदात में शामिल गिरोह को चिह्नित किया जा रहा है। जिले की सीमा को सील कर सभी थानों को अलर्ट किया गया है। साथ ही अगल-बगल के जिलों की पुलिस से भी संपर्क साधा गया है। पुलिस घटनास्थल के पास एक निजी स्कूल का सीसीटीवी फुटेज खंगाली है। हालांकि उसमें कुछ स्पष्ट नहीं हो सका है। बताया गया है कि घटना के समय उस इलाके की बिजली गुल थी। पुलिस मोहल्ले के लोगों व आसपास के दुकानदारों से पूछताछ कर अपराधियों की शिनाख्त कर रही है। एसएसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि अपराधियों की धर पकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है। वे खुद मॉनिटरिंग कर रहीं हैं।

रेकी कर समीर को बनाया निशाना: अपराधियों ने वारदात को अंजाम देने के लिए पूरी रेकी की थी। एके-47 से लैस बाइक सवार अपराधियों ने जिस तरह से गोलियां बरसाई, कयास लगाये जा रहे हैं कि करीब आधा दर्जन से अधिक अपराधियों ने मिलकर समीर कुमार की हत्या को अंजाम दिया है। कुछ अपराधी उनके कार का पीछा भी कर रहे थे तो कुछ अपने साथियों के इशारे का इंतजार कर रहे थे। अग्निशमन कार्यालय से करीब 100 मीटर पहले सूनसान देखकर कार को घेरा। इसके बाद ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू दी। फायरिंग के दौरान समीर की कार के शीशे भी बंद थे। करीब दो दर्जन से अधिक गोलियों के निशान कार पर मिले हैं। वहीं कार के दांये व पीछे भी गोलियों के कई निशान पाये गये हैं। सर्वाधिक गोलियां कार के सामने से चलाई गई है। अपराधियों को पता था कि समीर कुमार अपनी कार में अगली सीट पर बैठे थे। जबकि ड्राइवर कार चला रहा था।

चेहरा व शरीर किया छलनी : अपराधियों ने समीर कुमार के चहरे और शरीर को गोलियों से छलनी कर दिया। इससे पहले नजर में किसी ने समीर कुमार को पहचाना तक नहीं। समीर कुमार के चेहरा, सर के अलावा बांह, सीना, पेट आदि हिस्सों में भी गोली लगी है। वहीं चालक के शरीर के दाहिने भाग में गोली लगी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गोली लगने के बाद चालक के शरीर में हरकत थी। लेकिन, समीर कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो चुकी थी। समीर कुमार की पहचान गाड़ी के कागजात व एसकेएमसीएच में उनके पास से मिले आई कार्ड से की गयी।

पुलिस के पहुंचने तक गाड़ी थी स्टार्ट: गोली चलने की सूचना मिलने पर नगर थानेदार मो. सुजाउद्दीन दलबल के साथ घटनास्थल पहुंचे। तबतक लोगों की भीड़ कार के आसपास जुट गयी थी। लेकिन कार के अंदर की भयावह स्थिति देखकर कोई भी आगे नहीं बढ़ा। लोगों को यह भी भय सता रहा था कि अपराधी कहीं आसपास छिपे तो नहीं हैं। पुलिस जब घटनास्थल पर पहुंची तो तबतक कार स्टार्ट थी। किसी तरह उसे बंद किया गया। इसके बाद पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से पूर्व मेयर और ड्राइवर की डेडबॉडी को कार से निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेजा।

घटना स्थल के पास की स्ट्रीट लाइट कर दी थी बंद: बनारस बैंक चौक के पास घटनास्थल पर अंधेरा पसरा था। घटनास्थल से थोड़ी दूर पहले एक स्ट्रीट लाइट टूटी हुई थी। वहीं दूसरी स्ट्रीट लाइट को ऑफ कर दिया गया था। स्थानीय लोगों के अनुसार एक स्ट्रीट लाइट पहले से टूटी थी। वहीं दूसरी स्ट्रीट लाइट का स्विच जानबूझकर किसी ने ऑफ किया था।

कार से मिले जमीन के कई कागजात : एसएसपी ने घटनास्थल पर खड़ी क्षतिग्रस्त कार की छानबीन की। कार को खोलकर देखा और पुलिस ने जमीन के करीब आधा दर्जन पेपर जब्त किए। इसके अलावा जमीन का नक्शा भी बरामद किया। उक्त नक्शे पर जमीन की प्लांटिंग दिखाई गई थी। इसके अतिरिक्त एक महिला के नाम से शपथ पत्र भी बरामद हुआ जो जमीन की खरीद-बिक्री से जुड़ा बताया जा रहा है। कार से पुलिस ने कुछ कपड़े और साबून भी बरामद किये।

पूर्व मेयर समीर कुमार की हत्या की जांच के लिए एसएसपी हरप्रीत कौर व सिटी एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया है। टीम को कई बिंदुओं पर जांच करने का निर्देशित किया गया है। इस इलाके के पुराने शार्प शूटर को चिह्नित करने का निर्देश दिया गया है। एसआईटी का गठन कर मामले का जल्द खुलास किया जाएगा।

सुनील कुमार, जोनल आईजी, मुजफ्फरपुर।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Former Maier Sameer Kumar in Muzaffarpur including two AK 47