DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के प्रति छात्रों में जागरूकता बढ़ाने की कवायद

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के लिए छात्रों को कहीं कोई परेशानी तो नहीं आ रही, कुशल युवा कार्यक्रम में अधिक से अधिक छात्र नामांकन करा रहे हैं या नहीं। इन सबकी जानकारी निदेशक ने छात्रों के साथ बैठकर ली। बुधवार को सिकन्दरपुर स्थित निबंधन परामर्श केन्द्र के निरीक्षण में आए बिहार विकास मिशन के उप मिशन निदेशक कौशलेन्द्र सिंह छात्रों की काउंसिलिंग में शामिल हुए। डीएम के साथ राज्यस्तरीय टीम ने डीआरसी में हो रहे सभी तरह के कामों का जायजा लिया। निदेशक ने अधिक से अधिक छात्रों को इन योजनाओं से जोड़ने के लिए स्कूल-कॉलेज में जाकर जागरूकता फैलाने का निर्देश दिया। उन्होंने ने कहा कि योजनाओं का लाभ सरल तरीके से छात्रों को मिले, इसका कोशिश करनी है। ‘आर्थिक हल, युवाओं को बल लक्ष्य तक कैसे पहुंचे इसकी कोशिश सबको करनी है। 10 स्कूलों के छात्र ही हुए शामिल डीईओ के निर्देश के बावजूद काउंसिलिंग में मुश्किल से 10 स्कूल के छात्र ही शामिल हुए। डीईओ ने पत्र जारी कर सभी प्राइवेट-सरकारी स्कूल-कॉलेज के प्राचार्य को प्लस 2 स्कूल के बच्चों को लाने का निर्देश दिया था। इसमें पांच प्राइवेट स्कूल और पांच सरकारी स्कूल के बच्चे शामिल हुए। काउंसिलिंग के दौरान छात्रों को जानकारी दी गई कि अब इस केन्द्र पर आधार कार्ड और पैन कार्ड बनवाने की सुविधा भी उपलब्ध है। इसके लिए छात्रों को भटकने की जरूरत नहीं है। हर महीने एक व15 तारीख को नि:शुल्क नामांकन डीईओ ललन प्रसाद सिंह ने बताया कि शहरी क्षेत्र समेत विभिन्न प्रखंड में कुशल युवा कार्यक्रम के तहत सेंटर खोले गए हैं। इन सेंटरों पर हिन्दी और अंग्रेजी भाषा, संवाद कौशल, बुनियादी कम्प्यूटर तथा व्यवहार कौशल की ट्रेनिंग दी जा रही है। डीआरसी की माया कुमारी ने बताया कि इस ट्रेनिंग के लिए हर महीने की एक और 15 तारीख को छात्र-छात्राएं नामांकन करा सकते हैं। यह नि:शुल्क है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Focused on use of Student credit card