DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैरिया में शव रख पांच घंटे बवाल

बैरिया में शव रख पांच घंटे बवाल

अहियापुर थाना क्षेत्र के बैरिया में रविवार को मुआवजा व आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पांच घंटे तक बवाल हुआ। मृतक अर्जुन सहनी के शव को सड़क पर रखकर परिजनों ने जमकर प्रदर्शन किया। टायर जलाकर सड़क को जाम कर दिया। इससे सड़क के दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई।

उधर, बवाल की सूचना के करीब दो घंटे बाद अहियापुर पुलिस मौके पर पहुंची और आक्रोशितों लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। उनके आक्रोश को देख पुलिस पीछे हट गई। इसके बाद पुलिस मूकदर्शक बनी रही और लोग प्रदर्शन करते रहे। इस दौरान लोगों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। यही नहीं, बैरिया बस स्टैंड से गोलंबर तक सड़क दोनों ओर की गलियों को भी बांस-बल्ले से घेर कर जामकर दिया। इसके करीब तीन घंटे बाद जब स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सहयोग से पुलिस ने मृतक के परिजनों को 48 घंटे में आरोपितों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया, तब लोगों ने जाम समाप्त किया। जाम के कारण बस स्टैंड से बसों व ऑटो के परिचालन पर भी असर पड़ा। इससे यात्रियों को काफी परेशानी हुई। दर्जनों लोगों को पैदल ही अपने गंतव्य तक जाना पड़ा। वहीं, बाइक सवार गलियों के सहारे आगे बढ़े।

मामले में मृत अर्जुन सहनी के पिता जुल्म सहनी ने बताया की चोरी का गलत आरोप लगा उसके पुत्र की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। बताया कि बीते 20 जुलाई को उसके पोते की शादी थी। देर रात विदाई के बाद दुल्हन घर लौट आ रही थी, तभी आरोपितों ने घर की महिलाओं व दुल्हन के साथ दुर्व्यवहार किया था। विरोध करने पर उन्होंने जान से मारने की धमकी दी थी। शनिवार को उसके लड़के को आरोपित बुलाकर ले गया और मोबाइल चोरी के आरोप में पीटकर उसकी हत्या कर दी। इसकी सूचना देने के बाद काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची।

पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

जुल्म सहनी ने बताया कि चोरी के आरोप में जगदंबा नगर में आरोपितों ने दो युवकों के साथ मारपीट की थी। इससे अर्जुन की मौत घटनास्थल पर ही हो गई, जबकि बिट्टू सहनी गंभीर रूप से जख्मी हो गया। जख्मी बिट्टू ने उन्हें बताया कि आरोपितों ने दोनों के साथ जमकर मारपीट की। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को पहले अपनी गाड़ी में बैठा लिया और फिर उन्हें उतार दिया। इसके बाद आरोपितों ने पीट-पीटकर अर्जुन की हत्या कर दी।

वहीं, अहियापुर थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया कि मामले में मृतक के भाई के बयान पर छह लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपितों के घरों पर छापेमारी की गई है। सभी घर से फरार हैं। गिरफ्तारी को लेकर कार्रवाई जारी है। वहीं, उन्होंने मृतक के परिजनों के इन आरोपों को गलत बताया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Five hours of Bawal in Baria