DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आनंदमय जीवन के लिए आत्मज्ञान जरूरी

रामाश्रम सत्संग मथुरा की ओर से शनिवार को आमगोला पड़ाव पोखर लेन स्थित एक विवाह भवन में तीन दिवसीय आध्यात्मिक सत्संग समारोह शुरू हुआ। इसमें पटना से आये प्रभुदयाल शर्मा व कृष्णकांत शर्मा ने कहा कि भौतिक ज्ञान व संपदा न तो जीवन को आनंदमय बनाते न शांतिमय। शांति व आनंदमय जीवन के लिए आत्मज्ञान जरूरी है। इसके लिए सभी धर्मशास्त्र व संतजन कहते हैं कि किसी ऐसे महापुरुष के शरण में जाओ जो स्वयं आत्मज्ञानी हो और तुम्हें आत्मज्ञान प्राप्ति का रास्ता बता सके तथा सहायता प्रदान कर सके। इस दौरान भजन व भंडारे का भी लोगों ने आनंद लिया। सत्संग में कई जिलों से लोग पहुंचे थे। मौके पर अखिलेश कुमार सिंह, वशिष्ठ नारायण सिन्हा, देवानंद सिन्हा भी थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Enlightenment is necessary for a happy life