ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार मुजफ्फरपुर बुजुर्ग व दिव्यांग वोटर भी किसी से पीछे नहीं रहे

बुजुर्ग व दिव्यांग वोटर भी किसी से पीछे नहीं रहे

लोकतंत्र के उत्सव में बुजुर्ग व दिव्यांग वोटर भी किसी से पीछे नहीं रहे। शारीरिक अड़चनों-परेशानियों के बावजूद बुजुर्ग व दिव्यांग वोटर कतार में आने से...

 बुजुर्ग व दिव्यांग वोटर भी किसी से पीछे नहीं रहे
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरTue, 06 Dec 2022 01:32 AM
ऐप पर पढ़ें

मुजफ्फरपुर, कार्यालय संवाददाता।

लोकतंत्र के उत्सव में बुजुर्ग व दिव्यांग वोटर भी किसी से पीछे नहीं रहे। शारीरिक अड़चनों-परेशानियों के बावजूद बुजुर्ग व दिव्यांग वोटर कतार में आने से गुरेज नहीं किये। जीवन के अंतिम दौर से गुजर रहे बुजुर्ग लाठी के अलावा परिजनों की मदद से मतदान केंद्रों तक पहुंचे। ट्राइसाइकिल, बैशाखी के अलावा लाठी की मदद से दिव्यांग बूथों तक पहुंचे।

ट्राइसाइकिल से छाजन स्थित मतदान केंद्र पर पहुंचे गोनू चौक निवासी जीतेंद्र कुमार ने बताया कि वोट देने में शारीरिक अड़चन कोई बाधा नहीं है। मतदान केंद्र पर आने से पूर्व अपने परिजन व आसपास के लोगों को केंद्र पर भेजा। लोकतंत्र के लिए चुनाव सबसे अहम दिन होता है। हम योग्य नेता का चयन कर क्षेत्र की तस्वीर बदल सकते हैं।

छाजन हरिशंकर बूथ पर पहुंची 88 वर्षीय बिकीमा देवी ने बताया कि मैं करीब पचास वर्ष से वोट दे रही हूं। पचास साल पूर्व और अब के समय में काफी अंतर आया है। सड़क, बिजली व स्कूल बेहतर हुए हैं। पेंशन व अन्य योजनाओं के लिए दौड़ लगा रही हूं। तुर्की हाईस्कूल बूथ पर पहुंचे 68 वर्षीय विश्वनाथ प्रसाद बताते हैं कि मैं चुनाव में सुबह ही वोट डाल देता हूं। इसके बाद स्नान व मवेशी को चारा देता हूं। विकास के लिए अच्छे नेता का चयन जरूरी होता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।