DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केस नहीं उठाने पर दंपती को पोल से बांध जिंदा जलाने का प्रयास

मीनापुर थाना क्षेत्र के बनुआ ब्राह्मणटोला में केस न उठाने पर दबंगों ने दंपती को पोल से बांधकर पीटा। केरोसिन छिड़कर जिंदा जलाने का प्रयास किया। शोर सुनकर जुटे ग्रामीणों के हस्तक्षेप से दोनों की जान बची। घायल दंपती को इलाज के लिए एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया है। घायल अंशु देवी व उसके पति सतीश चंद्र झा ने पुलिस को अपना बयान दर्ज कराया है। इसमें आधा दर्जन लोगों पर जिंदा जलाने का आरोप लगाया है।

एसकेएमसीएच ओपी इंचार्ज राजेश्वर राय ने बताया कि घायल दंपती का बयान दर्ज कर संबंधित थाने को कॉपी भेजी जाएगी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि शनिवार को वह अपने घर में थी। तभी आरोपितों ने उसके घर हमला कर दिया। उसे बाल पकड़कर घसीटते हुए बाहर ले गए। जहां आरोपितों ने उसके साथ मारपीट की। बचाने आए उसके पति सतीश चंद्र झा को भी आरोपितों ने पीटा। इस दौरान उसके पति के मुंह से खून गिरने लगा। बावजूद दंपती केस उठाने से इनकार करते रहे। इसके बाद दोनों को घर से खींचकर दरवाजे के सामने बिजली के पोल में बांध दिया। एक आरोपित दोनों के शरीर पर केरोसिन छिड़ककर जलाने का प्रयास करने लगा। इसी ग्रामीण पहुंचे और बीच बचाव कर दोनों को बचाया। पीड़िता ने बताया कि कुछ दिन पहले आरोपितों ने उसके देवर को जबरन पोल पर चढ़ाया था उसकी करंट से मौत हो गई थी। मामले में आरोपितों पर केस दर्ज है। उसी केस को उठाने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

शिकायत के बावजूद नहीं पहुंची पुलिस:

पीड़िता ने बताया कि घटना के बाद उसने इसकी शिकायत पुलिस के हेल्पलाइन नंबर 100 पर इसकी शिकायत की। वहां से मीनापुर थाना की पुलिस को सूचित करने की जानकारी दी गई। लेकिन घंटों बाद भी पुलिस ने पीड़िता की सुध नहीं ली। वहीं थानाध्यक्ष दिनेश कुमार ने बताया कि किसी ने शिकायत नहीं की है। शिकायत आने पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Efforts to burn the couple alive with the pole after not taking case