DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वक्फ बोर्ड की जमीन को लेकर चला घंटों बवाल,तनाव की स्थिति

शहर के बनारस बैंक चौक स्थित सोगरा बेगम शिया वक्फ स्टेट की जमीन पर करार की बारी मोहल्ले में बनीं दुकानों व मकान के किराये को लेकर बुधवार की सुबह करीब दो घंटे तक हंगामा हुआ। दो पक्षों में भिड़ंत से स्थिति और तनावपूर्ण हो गई। पुलिस व प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए टकराव को रोका। पूरे घटनाक्रम में मौलाना सैय्यद काजिम शबीब व मोतवल्ली सैय्यद इशरार हुसैन आमने-सामने हैं। सुबह समर्थकों के साथ धरना देने गये मौलाना का दुकानदारों ने विरोध शुरू कर दिया। देखते ही देखते दोनों पक्षों में भिड़ंत हो गई। स्थिति हाथापाई तक पहुंच गई। मामले को तूल पकड़ता देख तैनात मजिस्ट्रेट व डीएसपी टाउन ने दोनों पक्षों को अलग किया और बैठकर बातचीत से विवाद को सुलझाने का निर्देश दिया। दोनो पक्षों के हटने के बाद भी स्थिति की गंभीरता को देखते हुए मजिस्ट्रेट व पुलिस तैनात रही। तालेबंदी की बात सुनते ही आक्रोशित हुए दुकानदार : धरना देने आये मौलाना व उनके समर्थक के पहुंचते ही दुकानदार व उनके समर्थक भी जुट गये। बातचीत शुरू हुई। तालेबंदी की बात सुनते ही दुकानदार आक्रोशित हो गये। अपशब्द सुन मौलाना समर्थक दुकानदारों से उलझ गये। दुकानदारों की टोली भी तन गई। मामला बिगड़ता देख डीसीएलआर पूर्वी शाहजहां व डीएसपी टाउन आशीष आनंद ने सख्ती दिखायी। पुलिस अभिरक्षा में मौलाना व उसके समर्थकों को बनारस बैंक की ओर भेजा गया। वहीं मोतवल्ली के समर्थक व दुकानदारों को पक्कीसराय की ओर भेजा। दोनों पक्षों को आपस में बैठ कर मामले को सुलझाने को कहा। मौके पर मुशहरी बीडीओ, प्रखंड कृषि पदाधिकारी सहित मिठनपुरा, नगर, ब्रह्मपुरा व महिला थाने की पुलिस मौजूद थी। एक सप्ताह से गतिरोध : एक सप्ताह पूर्व मौलाना ने मोतवल्ली पर स्टेट की जमीन बेचने, किरायेनामा कम का बनाकर ज्यादा किराया वसूलने आदि का आरोप लगाया। दुकानदारों को मोतवल्ली की जगह मौलाना को किराया देने का निर्देश जारी किया। मौलाना के इन बातों का मोतवल्ली व दुकानदारों ने विरोध किया। मौलाना ने बुधवार को स्टेट की जमीन पर धरना देने का निर्णय लिया था। बिना कमेटी की अनुमति के स्टेट की जमीन को मोतवल्ली बेच रहे हैं। किराया कुछ लिया जाता है और किरायेनामा कुछ बनता है। बैठक में सभी कागजात के साथ मोतवल्ली को बुलाया। वे प्रस्तुत नहीं हुए। प्रशासन के आश्वासन पर धरना रोका है। सैय्यद काजिम शबीब, मौलाना, शिया जामा मस्जिद कमरा मोहल्ला बोर्ड के आदेश के बाद ही स्टेट की जमीन बेची गई है। किरायानामे के अनुसार ही दुकानदार किराया देते हैं। मौलाना का आरोप बेबुनियाद है। वे अपना वर्चस्व जमाने के लिए ये सब कर रहे हैं। हमलोग नियमानुसार कार्रवाई में प्रशासन का सहयोग करेंगे।-सैय्यद इशरार हुसैन, मोतवल्ली धरना के दौरान हंगामा होने के बाद शांति के लिए दोनों पक्षों को अलग अलग कर दिया गया। दोनों पक्षों से पांच-पांच लोगों को सारे कागजात के साथ एक बैठक कर मामले को नियमानुसार सुलझाने को कहा गया है। मो. शाहजहां, डीसीएलआर पूर्वी सह मजिस्ट्रेट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Disputed land of waqf board caused big uproar in city