DA Image
27 अक्तूबर, 2020|6:11|IST

अगली स्टोरी

ऑनलाइन आवेदन नहीं करने से बेटियों की मेधावृति में अड़ंगा

ऑनलाइन आवेदन नहीं करने के कारण बेटियों की मेधावृति राशि में अड़ंगा लग गया है। मेधावृति योजना की योग्यता रखने और सरकार द्वारा राशि आवंटित करने के बाद भी इन बेटियों के अबतक आवेदन नहीं करने के कारण लाभ नहीं मिल पाया है।
2019 में इंटर प्रथम व द्वितीय श्रेणी से पास करने वाली अनु.जाति-जनजाति की बेटियों का यह मामला है। मैट्रिक में भी प्रथम स्थान पाने वाली बेटियों ने अब तक आवेदन नहीं किया है। मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से प्रमंडलीय समीक्षा में यह मामला खुला। इन बेटियों को 15 हजार और 10 हजार की राशि मिलनी है। लॉकडाउन को देखते हुए सरकार ने ऑनलाइन आवेदन की तिथि बढ़ा दी है। अब पोर्टल खुले रहने तक बेटियों को एक और मौका मिला है।
 2302 में 1541 बेटियों ने नहीं किया आवेदन
डीईओ अब्दुसलाम अंसारी, डीपीओ लेखा योजना नासिर हुसैन ने कहा कि जिले में अनु.जाति-जनजाति की बेटियों को जो मेधावृति योजना का लाभ मिलना है, उसमें स्थिति ठीक नहीं है। इंटर पास अनु.जाति और जनजाति की बेटियों को जिन्होंने प्रथम श्रेणी पाया था, उन्हें 15 हजार मिलना है वहीं सेकेंड को 10 हजार रुपये मिलना है। जिले में 2302 बेटियों का लक्ष्य था। इसमें महज 352 को ही राशि मिली है। ऑनलाइन आवेदन 761 ने किया है। 1541 बेटियों ने अब तक ऑनलाइन आवेदन ही नहीं किया है। इसके अलावा एससी मैट्रिक में 4329 को मेधावृति के तहत राशि मिलनी है मगर इसमें भी 725 ने अबतक आवेदन ही नहीं किया है। ओबीसी में 5097 में 233 ने आवेदन नहीं किया है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Disappointment of daughters due to not applying online