DA Image
22 सितम्बर, 2020|1:19|IST

अगली स्टोरी

प्रसव प्रोत्साहन राशि घोटाला: अब दो ही प्रसव पर प्रोत्साहन राशि देने की तैयारी

default image

प्रसव प्रोत्साहन राशि घोटाला उजागर होने के बाद अब इस योजना के नियमों में बड़े बदलाव हो सकते हैं। अब महिलाओं को दो प्रसव पर ही प्रोत्साहन राशि देने की तैयारी चल रही है। इसमें भी यह तय किया गया है कि जीवित बच्चे का ही जन्म होने पर प्रोत्साहन राशि का लाभ दिया जाएगा।

जिलास्तर पर डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने नियमों में बदलाव का प्रस्ताव तैयार कर स्वास्थ्य विभाग को भेजा है। नियमों में बदलाव के प्रस्ताव पर विभाग को अंतिम स्वीकृति देनी है। फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद डीएम की ओर से गठित चार सदस्यीय टीम ने वर्तमान नियमों में बदलाव करते हुए दो बच्चों तक ही महिला को प्रसव प्रोत्साहन राशि देने का सुझाव दिया है। इसपर डीएम ने अपनी सहमति जताते हुए नियमों में बदलाव करने का प्रस्ताव स्वास्थ्य विभाग को भेजा है। अभी इस योजना में प्रसव प्रोत्साहन की संख्या तय नहीं है। अधिकारियों का मानना है कि डीएम की ओर से तैयार प्रस्ताव की मंजूरी मिलने से गड़बड़ी रोकने में मदद मिलेगी।

भुगतान की व्यवस्था में भी बदलाव पर विचार

प्रसव प्रोत्साहन राशि के भुगतान की व्यवस्था पर भी सवाल उठ रहे हैं। जांच टीम ने डीएम को जो रिपोर्ट सौंपी है, उसमें सुझाव दिया है कि भुगतान से संबंधित सॉफ्टवेयर से किसी भी लाभार्थी को किसी एक योजना के अंतर्गत एक वर्ष में एक से अधिक बार भुगतान नहीं किया जा सके। इसकी निगरानी वरीय अधिकारी की ओर से नियमित की जानी चाहिए। जांच टीम ने पाया है कि फर्जीवाड़ा कर महिलाओं के अकाउंट में पीएफएमएस के एचएम 2 मॉड्यूल के माध्यम से राशि का भुगतान किया गया है। इसमें एक नियत अवधि के भीतर किसी लाभार्थी को दोबारा भुगतान करने पर ऑपरेटर को अलर्ट किया जाता है। इसके बावजूद लेखापाल की ओर से लगातार भुगतान किया गया है।

प्रसव प्रोत्साहन राशि भुगतान में गड़बड़ी सामने आने के बाद जांच टीम ने अपनी रिपोर्ट दी है। इस आधार पर नीतिगत फैसला लिया गया है कि अब दो जीवित बच्चों के जन्म पर ही प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाए। इस प्रस्ताव पर विभाग को अंतिम स्वीकृति देनी है।

-डॉ. चंद्रशेखर सिंह, डीएम

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delivery incentive scam Now preparing to give incentive on two deliveries