DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीआरबी का आश्वासन फेल, भारत वैगन के कर्मियों को नहीं मिल राशि

सीआरबी का आश्वासन फेल, भारत वैगन के कर्मियों को नहीं मिल राशि

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष (सीआरबी) का आश्वासन भी भारत वैगन के 624 कर्मियों को काम नहीं आया। बोर्ड के अध्यक्ष ने बीते माह सांसद अजय निषाद व यूनियन के नेताओं को मई माह के अंतिम सप्ताह में कर्मियों के वीआरएस राशि के भुकतान के लिए 151 करोड़ 18 लाख रुपये देने का आश्वासन दिया था। मई माह समाप्त होने को है, लेकिन कर्मियों को फूटी कौड़ी तक नहीं मिली है।

केंद्र सरकार के फैसले के अनुसार, अक्टूबर 2017 में कर्मियों को वीआरएस दे दी गई। नवंबर माह में राशि मिलनी थी। लेकिन, छह माह बाद भी कर्मियों को राशि नहीं मिल सकी है। इस कारण कर्मियों को आर्थिक संकट से गुजरना पड़ रहा है। राशि के लिए कंपनी के कर्मी धरना, प्रदर्शन व तालेबंदी के अलावा पटना व दिल्ली तक की दौड़ लगा चुके हैं। लेकिन, राशि नहीं मिली।

बीते साल के अगस्त में केंद्र सरकार ने कंपनी को बंद करने का ऐलान किया। साथ ही यहां कार्यरत 626 कर्मचारियों को वीआरएस देने का निर्देश दिया था। कैबिनेट ने इसके लिए 151.18 करोड़ रुपये स्वीकृत किए थे। भारत वैगन वर्कर्स यूनियन के महासचिव एसके वर्मा बताते हैं कि कर्मियों को अबतक राशि नहीं मिली, जबकि सीआरबी ने मई के अंतिम सप्ताह में राशि देने का आश्वासन दिया था। राशि नहीं मिलने से कर्मियों को भीषण आर्थिक संकट से गुजरना पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CRB assurance fails, India wagon personnel get no funds