DA Image
25 जनवरी, 2021|12:53|IST

अगली स्टोरी

दूसरे दिन भी कॉपियों की नहीं हुई जांच, समय से रिजल्ट मुश्किल

default image

मूल्यांकन प्रभावित

एक दिन में 50 कॉपियों की जांच करने पर परीक्षकों का था विरोध

30 कॉपियों की जांच पर विवि से बनी सहमति, अंतिम मुहर बाकी

मुजफ्फरपुर। वरीय संवाददाता

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के स्नातक कॉपियों की जांच के बहिष्कार के कारण शुक्रवार को भी मूल्यांकन प्रभावित रहा। एक दिन पहले विवि के परीक्षा बोर्ड की बैठक में हुए समझौते को लागू करने की मांग शुक्रवार को परीक्षकों ने उठायी। दो दिन कॉपियों की जांच प्रभावित होने से तय समय से मूल्यांकन का काम पूरा होना और रिजल्ट जारी होने पर असर पड़ सकता है।

दरअसल, विवि ने एक सप्ताह में कॉपियों की जांच पूरा करने का टास्क दिया था। साथ ही 15 जनवरी तक रिजल्ट देने की बात थी। इसके अनुसार, एक दिन में एक परीक्षक को 50 कॉपियों की जांच करनी थी। लेकिन, परीक्षक अड़ गये थे और विरोध में मूल्यांकन को रोक कर प्रदर्शन किया। हालांकि, विवि के तमाम अधिकारियों ने परीक्षकों से कोरोना के कारण हुए विलंब को देखते हुए जांच में सहयोग करने की बात कही थी, लेकिन वे नहीं माने। इसके बाद परीक्षा बोर्ड की बैठक बुलाई गई। बैठक के बाद परीक्षकों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ विवि अधिकारियों की वार्ता हुई। सहमति बनी कि एक दिन में कम से 30 कॉपियों की जांच करनी है। बोर्ड के इस प्रस्ताव को कुलपति के पास भेजा गया है। स्नातक पार्ट-थ्री में 65 हजार छात्रों ने परीक्षा दी है। उनके ढ़ाई लाख कॉपियों की जांच होनी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Copies were not investigated on the second day as well the result of time is difficult