DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र ने खुद के अपहरण की रची साजिश, फिरौती के पैसे से प्रेमिका संग कर रहा था मौज

अपने ही अपहरण की साजिश रचने में सकरा के अब्दुलपुर रैनी गांव के इंटर के छात्र अभय करण झा उर्फ मुकुल को पुलिस ने जाल बिछाकर पकड़ा। उसे गुरुवार को समस्तीपुर से गिरफ्तार किया गया। वह अपने परिजनों से 20 हजार रुपये फिरौती वसूलकर प्रेमिका के साथ मौज कर रहा था। प्रेमिका के मोबाइल को ट्रैक कर पुलिस ने मुकुल को समस्तीपुर के काशीपुर से दबोचा। डीएसपी पूर्वी मो. मुत्तफिक अहमद ने बताया कि छात्र को शुक्रवार को जेल भेजा जाएगा। डीएसपी पूर्वी ने बताया कि मुकुल के अपहरण की एफआईआर चार दिन पहले सकरा थाने में दर्ज की गई थी। इंटर में फेल होने के डर से घर से रहस्मय ढंग से भागा था। परिजनों से पैसा वसूलने के लिए अपहरण की साजिश रची। उसने चचेरे भाई के व्हाट्सएप पर मैसेज कर अपहरण की बात बताई। फिरौती में 50 हजार रुपये की मांग की। अपहर्ता के अंदाज में मैसेज में लिखा कि मुकुल के पास उसका एटीएम कार्ड है, उसके खाते पर ही फिरौती का 50 हजार रुपये डाल दो। व्हाट्सएप पर ही मुकुल के भाई ने इतना पैसा नहीं होने का जवाब दिया तो उधर से धमकी दी गई कि पैसा नहीं भेजा गया तो मुकुल की लाश रेलवे ट्रैक से उठा लेना। यदि पैसा भेज दिया तो रात में वह सकरा स्टेशन के पास मिल जाएगा। चचेरे भाई ने व्हाट्सएप पर फिरौती की रकम घटाने की गुहार लगाई तो 20 हजार रुपये भेजने का जवाब आया। इस पर परिजनों ने मुकुल के खाते पर 20 हजार रुपये जमा करा दिए। छात्र ने समस्तीपुर में एटीएम से निकासी कर ली। एफआईआर होने के बाद मुकुल के मोबाइल का सीडीआर लिया गया। इसमें समस्तीपुर के एक नंबर पर लगातार लंबी कॉल का साक्ष्य मिला। इस आधार पर उस नंबर को सर्विलांस पर लिया गया। यह नंबर मुकुल के ही प्रेमिका का निकला। पुलिस के अनुसार, मुकुल ने स्वीकारोक्ति बयान में अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Conspiracy hatched for her own ransom money