DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीड़िता को मिले मुआवजा, दोषी पुलिसकर्मियों पर चले मुकदमा

गायघाट में दुल्हन व उसकी बहन की पिटाई मामले में पुलिसकर्मियों पर हुई कार्रवाई के बाद विभिन्न संगठनों व ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के निर्णय की सराहना की। गुरुवार को पीड़िता के घर पर बैठक हुई। बैठक में वक्ताओं ने दुल्हन व उसके परिजनों की पिटाई को बर्बरतापूर्ण बताया। कहा कि पुलिस की तानाशाही व घटना को जातिवाद से जोड़ना शर्मनाक है। वक्ताओं ने सस्पेंडेड बेनीबाद ओपी प्रभारी उमाशंकर मांझी पर आपराधिक मुकदमा चलाने व पीड़िता को मुआवजा देने की मांग की। बैठक की अध्यक्षता डॉ. भूषण सिंह ने की। मौके पर डॉ. ब्रजेश, प्रमोद सिंह, उमाशंकर कुमार व विजय सिंह कुमार भी थे। विधायक का बयान दुर्भाग्यपूर्ण: विधायक महेश्वर प्रसाद यादव के बयान को स्थानीय नेता अशोक कुमार सिंह ने दुर्भाग्यपूर्ण व हास्यास्पद बताया है। उन्होंने कहा कि महिलाओं पर पुलिसिया जुल्म मानव संवेदना से जुड़ा हुआ है। ऐसे में विधायक का बेतुका बयान अपने आप में मजाक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Compensation for victims, lawsuits going on guilty policemen