DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खाते में अचानक मोटी रकम आयी तो जांच

खाते में अचानक मोटी रकम आयी तो जांच

लोकसभा चुनाव के दौरान कैश के आदान-प्रदान पर बैंकों की मदद से नजर रखी जाएगी। ब्रांचों में किसी कम राशि वाले खाते में अचानक मोटी रकम जमा होने पर संबंधित ब्रांच के मैनेजर अपने बैंक के जिला समन्वयक के माध्यम से जिला प्रशासन को गोपनीय सूचना देंगे। खाताधारी को अचानक बचत खाते में मोटी रकम जमा करने का कारण बताना होगा। सही जवाब नहीं होने पर इसकी जांच होगी। यह निर्देश गुरुवार को डीएम आलोक रंजन घोष ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के सभी बैंकों के जिला समन्वयकों के साथ हुई बैठक में दिया।

डीएम ने कहा कि करेंसी चेस्ट या शाखाओं से कैश लेन-देन का पूरा रिकॉर्ड होना चाहिए। कैश आदान-प्रदान में दस, 50, सौ, दो सौ, पांच सौ व दो हजार के नोट की जानकारी हो। यह स्टेट लेवल बैंकर्स कमेटी का भी निर्देश है। इसको लेकर आयोग गंभीर है।

एलडीएम डॉ. एनके सिंह को सभी जिला समन्वयकों से समन्वय का निर्देश मिला। साथ ही खातों पर नजर रखने के लिए सभी को सक्रियता दिखाने का निर्देश डीएम ने दिया। कहा कि उम्मीदवार व उनके आश्रितों के खातों पर नजर रखनी है। एलडीएम ने बताया कि ब्रांच मैनेजरों को खुद से इस पर नजर रखनी है। अगर किसी खाता में ट्रांजेक्शन संदेहास्पद लगे तो उसकी रिपोर्ट करनी है।

चुनाव अवधि में अपने खातों पर रखें नजर

अगर आपके खाते में कुछ हजार जमा है और उसमें अचानक मोटी रकम आ जाये

अचानक एक लाख से अधिक राशि अपने खाते में खुद भी जमा करने से बचें

आरटीजीएस से ट्रांजेक्शन करना ही उचित रहेगा , अपने पासबुक को अपडेट करें

अगर मोटी रकम अचानक जमा कर रहे हैं तो उस राशि का पूरा विवरण रखें

दस से बीस हजार वाले बचत खाते में एक लाख या अधिक राशि कहां से जमा कर रहे, बतान होगा

आपके खाते में जो ट्रांजेक्शन होता है उसकी सभी जांच एजेंसियों के पास सूचना रहती है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Checks if there was a sudden amount of money in the account